Vice President Jagdeep Dhankhar Meets Prime Minister Of Cambodia To Discuss Bilateral Relations » Br Breaking News
December 7, 2022


Vice President Jagdeep Dhankhar: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने शनिवार (12 नवंबर) को कंबोडिया में 19वें आसियान-भारत सम्मेलन को संबोधित किया. जिसके बाद भारत और आसियान देशों ने आतंकवाद के खिलाफ व्यापक रणनीतिक भागीदारी कायम करने और सहयोग बढ़ाने का संकल्प लिया. धनखड़ कंबोडिया की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं. इस वर्ष आसियान-भारत संबंधों की 30वीं वर्षगांठ है और इसे आसियान-भारत मैत्री वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है. 

भारत-आसियान ने दोनों पक्षों के बीच संवाद मंच स्थापित करके साइबर सुरक्षा पर सहयोग मजबूत बनाने पर जोर दिया. दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का संघ (आसियान) एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है जिसमें दक्षिण पूर्वी एशियाई के 10 देश ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमा, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम सदस्य हैं.

एक संयुक्त बयान में, जगदीप धनखड़ ने दक्षिण पूर्वी एशिया और भारत के बीच गहरे सभ्यतागत संबंध, समुद्री संपर्क और सांस्कृतिक संबंधों की सराहना की, जो पिछले 30 वर्षों में मजबूत हुए हैं और आसियान-भारत संबंधों के लिए एक ठोस आधार बन गए हैं. उपराष्ट्रपति 11-13 नवंबर तक कंबोडिया के दौरे पर हैं 

उपराष्ट्रपति ने कंबोडिया के पीएम से की मुलाकात

News Reels

सम्मेलन को संबोधित करने से पहले उपराष्ट्रपति धनखड़ ने कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन के साथ मानव संसाधन, बारूदी सुरंगों को हटाने और विकास परियोजनाओं जैसे क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को और गहरा बनाने के तौर-तरीकों पर चर्चा की. भारत और आसियान देशों ने संयुक्त बयान में डिजिटल परिवर्तन, डिजिटल व्यापार, डिजिटल कौशल एवं नवाचार में विभिन्न क्षेत्रीय कौशन निर्माण गतिविधियों के माध्यम से डिजिटल अर्थव्यवस्था में सहयोग बढ़ाने की घोषणा की.

संयुक्त बयान में कहा गया है, “हम आसियान स्मार्ट सिटीज नेटवर्क (एएससीएन) और भारत के स्मार्ट सिटी मिशन के तहत सहयोग बढ़ाने के विकल्प तलाशेंगे, इसके लिए आपस में श्रेष्ठ पद्धतियों एवं क्षमता निर्माण में परस्पर सहयोग करेंगे ताकि ऐसे शहरों के निर्माण में मदद मिले जो तकनीकी दृष्टि से उन्नत हो.”

उपराष्ट्रपति पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे

उपराष्ट्रपति धनखड़ 13 नवंबर को, 17वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे, जिसमें दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संघ (आसियान) के सदस्य देश और इसके आठ संवाद सहयोगी भारत, चीन, जापान, कोरिया गणराज्य, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल हैं. पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में नेता पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन तंत्र को और मजबूत करने के तरीकों के साथ-साथ समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद और निरस्त्रीकरण सहित राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय मामलों पर चर्चा करेंगे. 

ये भी पढ़ें- 

Gujarat Election: ’10 साल में कांग्रेस ने सरदार पटेल के नाम पर कुछ किया है तो बताए’, बीजेपी ने किया पलटवार





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *