November 28, 2022
Uric Acid: यूरिक एसिड की समस्या में डाइट के साथ-साथ ये एक्सरसाइज भी हैं बेहद जरूरी


हाइलाइट्स

यूरिक एसिड की समस्‍या होने पर एक्‍सरसाइज फायदेमंद हो सकती है.
वॉकिंग से कम हो सकता है यूरिक एसिड.
स्‍वीमिंग करने से बढ़ सकता है ब्‍लड सर्कुलेशन.

Best Exercise For Reduced to Uric Acid- हाई यूरिक एसिड की समस्‍या आजकल आम हो गई है. यूरिक एसिड शरीर में मौजूद सब्‍सटेंस होता है जो प्‍यूरीन नामक केमिकल की वजह से खून में बनता है. हेल्‍थलाइन के अनुसार यदि ये सब्‍सटेंस शरीर में बहुत अधिक बनने लगता है तो यूरिक एसिड क्रिस्‍टल्‍स जोड़ों में जाकर जमा हो सकते हैं. जिससे जोड़ों में दर्द, सूजन और लालपन की समस्‍या हो सकती है. यदि यूरिक एसिड का समय रहते इलाज न किया जाए तो ये अर्थराइटिस, क्रॉनिक पेन और जोड़ों में दर्द की समस्‍या का कारण बन सकता है.

इसके अलावा दर्द होने पर मांसपेशियों में कमजोरी, जकड़न और चलना-फिरना भी दूभर हो सकता है. यूरिक एसिड के लेवल को बढ़ने से रोकने के लिए हेल्‍दी डाइट के साथ नियमित रूप से एक्‍सरसाइज का अभ्‍यास भी कर सकते हैं. इसके लिए लो से लेकर मीडियम मॉडरेट इंटेंसिटी एक्‍सरसाइज की जा सकती हैं.

वॉकिंग
शरीर में यूरिक एसिड के बढ़ने से जोड़ों में दर्द की समस्‍या बढ़ सकती है. ऐसे में जरूरी है कि शरीर को एक्टिव रखें. यूरिक एसिड को कम करने के लिए नियमित रूप से वॉक यानी सैर की जा सकती है. सैर करने से शरीर का पाचन तंत्र, लिवर, किडनी और हार्ट सही ढंग से काम करता है.

साइकिलिंग
यूरिक एसिड की समस्‍या से छुटकारा पाने के लिए साइकिलिंग बेस्‍ट ऑप्‍शन हो सकता है. सा‍इकिलिंग करने से ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार होता है जिससे शरीर में मौजूद केमिकल को कम करने में मदद मिलती है. गाउट हेल्‍थ के लिए भी प्रतिदिन 20 से 30 मिनट साइकिलिंग फायदेमंद हो सकती है. 

ये भी पढ़ें: प्री-मैच्योर एजिंग से न हों परेशान, ऐसे करें इसे मैनेज

स्‍वीमिंग
स्‍वीमिंग एक हाई इंटेंसिटी एक्‍सरसाइज है जो ओवरऑल हेल्‍थ के लिए फायदेमंद हो सकती है. स्‍वीमिंग करने से जोड़ों के दर्द में भी राहत मिल सकती है. यदि नियमित रूप से स्‍वीमिंग की जाए तो किडनी और हार्ट हेल्‍थ को भी सुधारा जा सकता है.

योग
योग एक बेहतरीन विकल्‍प को सकता है शरीर को हेल्‍दी रखने का. योग करने ये पेट और किडनी संबंधी कई समस्‍याओं को ठीक किया जा सकता है. यूरिक एसिड को कम करने के लिए अर्ध उत्‍तानासन, कपोतासन, मंडूकासन और पवनमुक्‍तासन का अभ्‍यास करना फायदेमंद हो सकता है.

ये भी पढ़ें: केमिकल हेयर स्‍ट्रेटनिंग से बढ़ सकता है कैंसर का खतरा, जानें क्‍या है वजह

एरोबिक्‍स
शरीर को एक्टिव रखने के लिए एरोबिब्‍स एक्‍सरसाइज का चुनाव भी किया जा सकता है. एसोबिक्‍स को निय‍मित रूप से करने से पेट से संबंधित समस्‍याओं से निजात मिल सकता है साथ ही ये यूरिक एसिड को कम करने में भी मदद कर सकती है.

यूरिक एसिड को कम करने के लिए डाइट के साथ एक्‍सरसाइज पर भी ध्‍यान देना जरूरी है. किसी भी ए‍क्‍सरसाइज को करने से पहले एक्‍सपर्ट की सलाह अवश्‍य ले लें.

Tags: Health, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *