December 10, 2022


Volodymyr Zelenskyy

Volodymyr Zelenskyy
– फोटो : Instagram/zelenskiy_official

ख़बर सुनें

Russia Ukraine Crisis : रूस और यूक्रेन के बीच जारी संघर्ष पर पूरी दुनिया की नजर है। ताजा खबरों के मुताबिक रूसी सेना खेरसॉन क्षेत्र से पीछे हट गई है। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने भी दावा करते हुए कहा है कि खेरसॉन अब हमारा है। यूक्रेन के राष्ट्रपति का यह भी कहना है कि यूक्रेनी सेना की विशेष इकाइयों ने खेरसॉन शहर में प्रवेश कर लिया है।

रूस के साथ कैदियों की अदला-बदली हुई, यूक्रेन के 45 सैनिक रिहा
यूक्रेन ने रूस के साथ कैदियों की अदला-बदली की है। इस दौरान 45 यूक्रेनी सैनिकों को मुक्त कराया गया है। अल जजीरा ने शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट में यूक्रेन के राष्ट्रपति कार्यालय के हवाले से यह सूचना दी है। राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से यह भी कहा गया कि मारे गए दो यूक्रेनी सैनिकों के शव भी स्वदेश भेज दिए गए हैं।

यहां के एक अधिकारी एंड्री यरमक ने अपने ट्वीट में लिखा कि युद्धबंदियों की एक और अदला-बदली। हम 45 एएफयू सैनिकों को मुक्त करने और मारे गए दो सैनिकों के शव यूक्रेन वापस लाने में कामयाब रहे। युद्ध के कैदियों के उपचार में समन्वय करने वाले कर्मचारियों के लिए भी धन्यवाद। अलविदा। हमारे लोग घर लौटेंगे। इस संबंध में इससे ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है। इससे पहले जुलाई में करीब 40 कैदियों की अदला-बदली हुई थी। जबकि डोनबास और ओलेनिवका क्षेत्र में उस दौरान करीब 75 सैनिका मारे गए थे।

विस्तार

Russia Ukraine Crisis : रूस और यूक्रेन के बीच जारी संघर्ष पर पूरी दुनिया की नजर है। ताजा खबरों के मुताबिक रूसी सेना खेरसॉन क्षेत्र से पीछे हट गई है। इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने भी दावा करते हुए कहा है कि खेरसॉन अब हमारा है। यूक्रेन के राष्ट्रपति का यह भी कहना है कि यूक्रेनी सेना की विशेष इकाइयों ने खेरसॉन शहर में प्रवेश कर लिया है।

रूस के साथ कैदियों की अदला-बदली हुई, यूक्रेन के 45 सैनिक रिहा

यूक्रेन ने रूस के साथ कैदियों की अदला-बदली की है। इस दौरान 45 यूक्रेनी सैनिकों को मुक्त कराया गया है। अल जजीरा ने शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट में यूक्रेन के राष्ट्रपति कार्यालय के हवाले से यह सूचना दी है। राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से यह भी कहा गया कि मारे गए दो यूक्रेनी सैनिकों के शव भी स्वदेश भेज दिए गए हैं।

यहां के एक अधिकारी एंड्री यरमक ने अपने ट्वीट में लिखा कि युद्धबंदियों की एक और अदला-बदली। हम 45 एएफयू सैनिकों को मुक्त करने और मारे गए दो सैनिकों के शव यूक्रेन वापस लाने में कामयाब रहे। युद्ध के कैदियों के उपचार में समन्वय करने वाले कर्मचारियों के लिए भी धन्यवाद। अलविदा। हमारे लोग घर लौटेंगे। इस संबंध में इससे ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है। इससे पहले जुलाई में करीब 40 कैदियों की अदला-बदली हुई थी। जबकि डोनबास और ओलेनिवका क्षेत्र में उस दौरान करीब 75 सैनिका मारे गए थे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *