November 28, 2022


Sanjay Raut Remark Over Rahul Gandhi: राज्यसभा सदस्य संजय राउत (Sanjay Raut) ने शुक्रवार (11 नवंबर) को कहा कि कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और शिवसेना (Shiv Sena) नेता आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) दो ‘प्रमुख युवा नेता’ हैं जो देश का नेतृत्व करने में सक्षम हैं. 

ठाकरे ने दिन में गांधी की ‘भारत जोड़ो’ यात्रा में भाग लिया था. राउत ने कहा, “दो प्रमुख युवा नेता, राहुल गांधी और आदित्य ठाकरे, ‘भारत जोड़ो’ के लिए एक साथ चलेंगे और इससे नई ऊर्जा का संचार होगा. दोनों युवा नेता देश का नेतृत्व करने में सक्षम हैं.” मनि लॉन्ड्रिंग मामले में जमानत मिलने के बाद जेल से रिहा हुए राउत ने कहा कि शिवसेना ‘भारत जोड़ो’ यात्रा का हिस्सा है. उन्होंने कहा, ”उनमें (गांधी और ठाकरे में) राज्य और देश के लिए काम करने के लिए बहुत ऊर्जा है.”

वंचित बहुजन आघाड़ी को लेकर राउत यह बोले

उद्धव ठाकरे और वंचित बहुजन आघाड़ी के नेता प्रकाश अंबेडकर के एक साथ आने के बारे में पूछे जाने पर राउत ने कहा कि उन दोनों के दादाओं के बीच एक रिश्ता था और यह अब आज पीढ़ियों में भी बन गया है. राउत ने कहा, “बाबासाहेब अंबेडकर और प्रबोधनकर ठाकरे ने संयुक्त महाराष्ट्र आंदोलन में भाग लिया था. बाबासाहेब अंबेडकर के मराठी गौरव के बारे में मजबूत विचार थे.”

News Reels

उन्होंने कहा, ”प्रबोधनकर ठाकरे ने बाबासाहेब अंबेडकर से महाराष्ट्र आंदोलन में भाग लेने का अनुरोध किया था और उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया था.” राउत ने कहा, ”अंबेडकर और ठाकरे दो ताकतें हैं और जब वे एक साथ आएंगे तो आप देश की राजनीति को बदलते हुए देखेंगे.”

‘भारत जोड़ो यात्रा कड़वाहट खत्म करने का आंदोलन’

इससे पहले गुरुवार (10 नवंबर) को शिवसेना-उद्धव बालासाहेब ठाकरे नेता संजय राउत ने कहा था कि राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ कड़वाहट के माहौल को खत्म करने और देश को एकजुट करने का एक आंदोलन है. राउत ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) अध्यक्ष शरद पवार से उनके आवास पर मुलाकात के बाद संवाददाताओं से यह बात कही थी. संजय राउत ने कहा, ‘‘भारत जोड़ो यात्रा देश को एकजुट करने और कटुता के माहौल को खत्म करने का आंदोलन है. इसका स्वागत किया जाना चाहिए.’’ उन्होंने शरद पवार के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने के लिए उनसे मुलाकात की थी.

बता दें कि मुंबई की एक विशेष अदालत ने बुधवार (9 नवंबर) को कथित धनशोधन मामले में संजय राउत की गिरफ्तारी को ‘अवैध’ और ‘निशाना बनाने’ की कार्रवाई करार देते हुए उन्हें जमानत प्रदान कर दी थी. इसके बाद उन्हें जेल से रिहा कर दिया गया था.

यह भी पढ़ें- महामहिम को लेकर ममता के मंत्री के बिगड़े बोल, बीजेपी ने बताया शर्मनाक



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *