brbreakingnews.com
Estimated worth
• $ 182,69 •

Ramcharitmanas Controversy | स्‍वामी प्रसाद मौर्य के ‘रामचरितमानस’ पर विवादित टिप्पणी पर भड़के साधू-संत, CM योगी को दी ये सलाह


FILE- PHOTO

FILE- PHOTO

बलिया: शंकराचार्य परिषद के अध्यक्ष स्वामी आनंद स्वरूप (Swami Anand Swaroop) ने रामचरितमानस (Ramcharitmanas) के संबंध में समाजवादी पार्टी (SP) के वरिष्ठ नेता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) की अपमानजनक टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की। स्वामी आनंद स्वरूप ने मौर्य को विदेशी षड्यंत्रकारियों का मुखौटा भी करार दिया। उन्होंने सोमवार रात बलिया के बिल्थरा रोड में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि कोई मुसलमान और मौलाना (Muslim and Maulana) भी हिंदू धार्मिक ग्रंथों के संबंध में अनर्गल टिप्पणी नहीं करता।  कोई मुसलमान और बड़ा मौलाना भी रामचरितमानस और गीता जैसे हिंदू धार्मिक ग्रंथों का विरोध नहीं करता है।  

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को सलाह देते हुए स्वामी आनंद स्वरूप ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार को इस तरह के बयानों को गंभीरता से लेते हुए उन पर अंकुश लगाने की दिशा में प्रभावी कार्रवाई करनी चाहिए तथा राष्ट्रद्रोह के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। 

 https://twitter.com/AHindinews/status/1617759919352205314  

गौरतलब है कि सपा के विधान परिषद सदस्य स्वामी प्रसाद मौर्य ने रविवार को कहा था कि रामचरितमानस के आपत्तिजनक अंश, जो जाति, वर्ण और वर्ग के आधार पर समुदायों का अपमान करते हैं, उन पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें

उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी ने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे लोग विक्षिप्त हैं और अखिलेश यादव को बताना चाहिए ये उनकी पार्टी का विचार है या स्वामी प्रसाद का निजी विचार है। सपा हमेशा देश विरोधी लोगों के साथ खड़ी रही है। इस पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उन्होंने जितने भी अशुभ बाते की हैं वो उन्हें मुबारक।   





Source link

Leave a Comment