brbreakingnews.com
Estimated worth
• $ 182,69 •

Bihar:सीएम के गृहजिला की पुलिस पर उठे सवाल, नालंदा के थाने में युवक की हुई संदिग्ध मौत – Questions Raised On The Police Of Cm’s Home District, Suspicious Death Of A Youth In Nalanda Police Sta


Bihar: सीएम के गृहजिला की पुलिस पर उठे सवाल, नालंदा के थाने में युवक की हुई संदिग्ध मौत

Bihar: सीएम के गृहजिला की पुलिस पर उठे सवाल, नालंदा के थाने में युवक की हुई संदिग्ध मौत
– फोटो : AMAR UJALA DIGITAL

विस्तार

नालंदा की पुलिस ने हत्या के आरोप में एक युवक को कंप्यूटर रूम में बंद रखा था, जिसकी संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। मामला तेल्हाड़ा थाना का है। मृतक चिकसौरा थाना क्षेत्र के कोरावां दलालपुर गांव निवासी उद्दी यादव का पुत्र कृष्णा यादव उर्फ पहलू यादव(40) बताया जाता है। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव कर जमकर हंगामा किया। फिर उनलोगों ने सड़क भी जाम किया। लोगों के हंगामे के बीच नालंदा एसपी ने थानाध्यक्ष और ओडी पदाधिकारी को निलंबित कर दिया। परिजनों का कहना है कि पुलिस ने कृष्णा यादव को हत्या के एक आरोप में 17 जनवरी को गिरफ्तार किया था और 23 जनवरी को कंप्यूटर रूम में उसकी संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। 

सरपंच पति की हुई थी हत्या 

18 नवंबर की शाम हिलसा प्रखंड अंतर्गत कोरावां पंचायत के उपसरपंच लीला देवी के पति ललित यादव उर्फ सुरेंद्र यादव जब अपने ससुराल से लौट रहे थे तभी बदमाशों ने गोनाई विगहा गांव के समीप खोजरिया बाबा के पास उन्हें गोली से छलनी कर दिया था। पुलिस ने एक आरोपित महिला के फर्द बयान पर  पूछताछ के लिए कृष्णा यादव को थाना पर लाई थी।

एसडीएम ने कहा – आत्महत्या है 

इस मामले पर एसडीएम सुधीर कुमार का कहना है कि युवक को हत्या के एक मामले में पूछताछ के लिए बुलाया गया था जिसने सिरिस्ता में आत्महत्या कर ली। उन्होंने यह भी कहा कि वहां सीसीटीवी भी लगा हुआ है जिसकी जांच की जाएगी।  

परिजन लगा रहे पीट-पीट कर हत्या करने का आरोप

 

परिजनों ने पुलिस पर पीट-पीटकर हत्या करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि कृष्णा को पुलिस पूछताछ का नाम लेकर ले गई और जबरन उसे आरोप स्वीकार करने के लिए दवाब बनाई। अपराध स्वीकार नहीं करने के क्रम में पुलिस ने कृष्णा के साथ बेरहमी से मारपीट किया जिस वजह से उसकी मौत हो गई। 

पोस्टमार्टम के लिए टीम का हुआ  गठन 

 परिजनों ने हंगामे के बीच एसपी से यह मांग किया कि शव का पोस्टमार्टम डॉक्टरों की टीम गठित कर किया जाय। ताकि यह स्पष्ट हो जाय कि पुलिस जिस मौत को आत्महत्या बता रही है, उसका सच सब के सामने आ जाय। परिजनों की मांग पर शव का पोस्टमार्टम बिहार शरीफ सदर अस्पताल में टीम गठित कर किया गया।  

एसपी ने की कार्रवाई 

इस मामले में पुलिस अधीक्षक अशोक मिश्रा ने त्वरित कार्रवाई करते हुए थानाध्यक्ष मुकेश कुमार और ओडी प्रभारी ए के उपाध्याय को सस्पेंड कर दिया। पुलिस अधीक्षक ने मृतक परिवार के आश्रितों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि इस मामले में जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ़ विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी। 

 



Source link

Leave a Comment