December 10, 2022
PCOS in Girls: लड़कियों में क्यों बढ़ रही है पीसीओएस की समस्या? जानिए कारण और उपचार


हाइलाइट्स

जंक फूड का सेवन कम करें
पीरियड्स रेगुलर ना होना 1 लक्षण

PCOS Problems in Girls: पीसीओएस पॉली सिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम नाम की एक बीमारी है जिसका सभी महिलाओं को पता होना चाहिए. खासकर उन लड़कियों के लिए जिन्होंने युवावस्था में कदम रखा है.उनके लिए पीसीओएस के बारे में जानना बहुत जरूरी है. यह सिंड्रोम महिलाओ में बांझपन का मुख्य कारण है. अगर इसके ऊपर ध्यान नहीं दिया गया तो यह अन्य स्वास्थ से संबंधी बीमारियो को पैदा कर सकता है. जैसे कैंसर, मोटापा, हार्ट से संबंधित रोग, शुगर. इसलिए अपने शरीर को स्वस्थ रखने के साथ साथ अन्य लड़कियो और महिलाओं को भी स्वस्थ रहने की सलाह देनी चाहिए.

अगर महिला को पीसीओएस की समस्या है तो रेगुलर पीरियड्स में प्रॉब्लम होगी या काफी दिनों तक पीरियड्स चलेंगे साथ ही एंड्रोजन हार्मोन की भी बॉडी में अधिकता हो सकती है.

इसे भी पढ़ें-कोमा से उबरने के बाद आखिर क्या हुआ जो हमें छोड़कर चले गए राजू श्रीवास्तव, कार्डियोलॉजिस्ट से समझिए पूरी कहानी

कैसे पता करें कि आपको पहले से ही पीसीओएस है या नहीं
मायो क्लीनिक डॉट कॉम के मुताबिक पीसीओएस में ओवरी के मुंह पर छोटी-छोटी फ्लूइड भरी गांठें हो जाती हैं. जिन को सिस्ट कहा जाता है. यह फ्लूइड भरे सिस्ट में अपरिपक्व ऐग होते हैं जिन्हें फॉलिकल्स कहा जाता है. फॉलिकल्स रेगुलर एग रिलीज नहीं कर पाते.

लड़कियों में पीसीओएस की समस्या
युवा लड़कियों में पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम कभी-कभी सामान्य यौवन संबंधी शारीरिक परिवर्तनों के कारण हो सकता है. जैसे  लड़कियों को टाइम पर महामारी ना आना या मुंहासे निकल आना. अगर ये लक्षण बार-बार होते हैं तो इनको नजर अंदाज करने की बजाय डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए. लेकिन इसके लक्षण अलग-अलग लड़कियों में अलग-अलग हो सकते हैं. ज्यादातर लड़कियों के लिए इसका इलाज मुश्किल हो सकता है क्योंकि इस उम्र में जंक फूड ज्यादा खाया जाता है.

ये भी पढ़ें: लाल रंग की ये चीजें एक नहीं बल्कि कई दिक्कतों को कर सकती हैं दूर

कैसे करें बचाव
-इस समस्या से बचने के लिए युवा लड़कियों को शुरू से अपने स्वास्थ को ठीक रखना चाहिए.
-ज्यादा जंक फूड नहीं खाने चाहिए.
-हर रोज सुबह और शाम को व्यायाम करना चाहिए. -जरूरी नहीं है इसके लिए आप जिम जाए. घर पर ही योग कर सकते हैं.

Tags: Health, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *