December 10, 2022


पटना विवि का चुनाव बवाल के बीच संपन्न

पटना विवि का चुनाव बवाल के बीच संपन्न
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

छात्र गुटों के बीच झड़प, रोड़ेबाजी,फायरिंग और हंगामे के बीच पटना यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का चुनाव आखिरकार संपन्न हो गया। रविवार सुबह घोषणा हुई तो सेन्ट्रल पैनल के चार पदों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष पर जदयू का वर्चस्व घोषित हुआ। शनिवार शाम 7:30 बजे मतों की गिनती शुरू हुई, जो रविवार सुबह 3:30 बजे समाप्त हुई। इस तरह से अब  पटना विवि में अब नीतीश सरकार ही चलेगी।

जानकारी के मुताबिक, अध्यक्ष पद पर जदयू के आनंद मोहन ने 1360 वोट से जीत सुनिश्चित की, जबकि उपाध्यक्ष पद के दावेदार विक्रमादित्य एक हजार मत से, सचिव पद पर संध्या कुमारी ने 2062 मत और कोषाध्यक्ष पद के दावेदार रविकांत ने 964 मत से अपने प्रतिद्वंदी को पछाड़ा। इससे पहले, शनिवार को एआईएसए ने पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति के वाहन पर हमला किया, जबकि आरजेडी समर्थकों के बवाल को शांत करने के लिए पुलिस को मजबूरन लाठीचार्ज भी करना पड़ा।  

गिनती तक जमकर हुआ बवाल
छात्रसंघ चुनाव के लिए कुल 51बूथ बनाए गए, जिनपर कुल 24395 छात्र-छात्राओं को मतदान करना था। पटना कला एवं शिल्प महाविद्यालय को मतगणना केंद्र बनाए जाने के कारण हंगामे का केंद्र अशोक राजपथ से सिन्हा लाइब्रेरी तक रहा। शनिवार की शाम मतों की गिनती शुरू होते ही एआईएसए ने जमकर बवाल शुरू कर दिया। उत्पात इतना मचाया कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ गया।

दरअसल, पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति गिरीश चौधरी  काउंटिंग सेंटर निरीक्षण कर जैसे ही बाहर निकलने लगे, एआईएसए समर्थकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी करते हुए उनके वाहन पर डंडे और मुक्कों से हमला कर दिया। वहीं दूसरी तरफ सिन्हा लाइब्रेरी रोड पर सेन्ट्रल रेवेन्यू कॉलोनी के सामने राजद समर्थकों ने जमकर बवाल काटा। दुस्साहस ऐसा कि किसी ने महिला सिपाही पर पटाखा भी फेंक दिया। इस हरकत के विरोध में पुलिस ने लाठीचार्ज कर उत्पातियों को वहां से खदेड़ा।इसमें आइसा के अध्यक्ष पद उम्मीदवार आदित्य कुमार चोटिल भी हुए। चुनाव के दौरान शनिवार को जाप और राजद समर्थक एक-दूसरे से भिड़ भी गए थे। इस दौरान पटेल छात्रावास के छात्रों ने लगभग छह राउंड हवाई फायरिंग की। 
 

विस्तार

छात्र गुटों के बीच झड़प, रोड़ेबाजी,फायरिंग और हंगामे के बीच पटना यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ का चुनाव आखिरकार संपन्न हो गया। रविवार सुबह घोषणा हुई तो सेन्ट्रल पैनल के चार पदों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष पर जदयू का वर्चस्व घोषित हुआ। शनिवार शाम 7:30 बजे मतों की गिनती शुरू हुई, जो रविवार सुबह 3:30 बजे समाप्त हुई। इस तरह से अब  पटना विवि में अब नीतीश सरकार ही चलेगी।

जानकारी के मुताबिक, अध्यक्ष पद पर जदयू के आनंद मोहन ने 1360 वोट से जीत सुनिश्चित की, जबकि उपाध्यक्ष पद के दावेदार विक्रमादित्य एक हजार मत से, सचिव पद पर संध्या कुमारी ने 2062 मत और कोषाध्यक्ष पद के दावेदार रविकांत ने 964 मत से अपने प्रतिद्वंदी को पछाड़ा। इससे पहले, शनिवार को एआईएसए ने पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति के वाहन पर हमला किया, जबकि आरजेडी समर्थकों के बवाल को शांत करने के लिए पुलिस को मजबूरन लाठीचार्ज भी करना पड़ा।  

गिनती तक जमकर हुआ बवाल

छात्रसंघ चुनाव के लिए कुल 51बूथ बनाए गए, जिनपर कुल 24395 छात्र-छात्राओं को मतदान करना था। पटना कला एवं शिल्प महाविद्यालय को मतगणना केंद्र बनाए जाने के कारण हंगामे का केंद्र अशोक राजपथ से सिन्हा लाइब्रेरी तक रहा। शनिवार की शाम मतों की गिनती शुरू होते ही एआईएसए ने जमकर बवाल शुरू कर दिया। उत्पात इतना मचाया कि पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ गया।

दरअसल, पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति गिरीश चौधरी  काउंटिंग सेंटर निरीक्षण कर जैसे ही बाहर निकलने लगे, एआईएसए समर्थकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी करते हुए उनके वाहन पर डंडे और मुक्कों से हमला कर दिया। वहीं दूसरी तरफ सिन्हा लाइब्रेरी रोड पर सेन्ट्रल रेवेन्यू कॉलोनी के सामने राजद समर्थकों ने जमकर बवाल काटा। दुस्साहस ऐसा कि किसी ने महिला सिपाही पर पटाखा भी फेंक दिया। इस हरकत के विरोध में पुलिस ने लाठीचार्ज कर उत्पातियों को वहां से खदेड़ा।इसमें आइसा के अध्यक्ष पद उम्मीदवार आदित्य कुमार चोटिल भी हुए। चुनाव के दौरान शनिवार को जाप और राजद समर्थक एक-दूसरे से भिड़ भी गए थे। इस दौरान पटेल छात्रावास के छात्रों ने लगभग छह राउंड हवाई फायरिंग की। 

 





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *