November 28, 2022


पटना में मर्डर।

पटना में मर्डर।
– फोटो : Amar Ujala

ख़बर सुनें

पटना जंक्शन के दूसरे पार करबिगहिया जंक्शन के पास प्रख्यात बिहारी साव मिल कंपाउंड के बाहर मुख्य सड़क पर दो पक्षों के बीच विवाद में तीसरे की मौत हो गई। जिस दुकानदार से झंझट हो रहा था, फायरिंग उसपर हुई थी लेकिन उसके झुक जाने पर गोली पीछे खड़े दूसरे दुकानदार राहुल (23) को लग गई। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इधर फायरिंग के बाद भागते तीन आरोपियों को लोगों ने दौड़कर पकड़ लिया और जमकर पीट दिया। रेल सप्लाई को दुकान में खपाने के कारण एजेंसी की मार्जिन खराब होने पर विवाद की शुरुआत हुई थी। 

ढाई घंटे से चल रहा था विवाद, गुंडा बुलाकर फायरिंग का आरोप 
करबिगहिया जंक्शन से चिरैयाटांड़ पुल की ओर जाने वाले रास्ते पर शुक्रवार सुबह बिहार साव कंपाउंड की किराना दुकानें सामान्य दिनों की तरह खुली ही थीं कि कृष्णा साह के बेटे विनय से एक फूड प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी की एजेंसी के कर्मियों का जमकर विवाद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एजेंसी का विरोध इस बात से था कि दुकानदान रेलवे के लिए विशेष सप्लाई होने वाले उत्पाद खरीदता और बेचता है। सामान्य सप्लाई और रेलवे की सप्लाई के मार्जिन में अंतर रहता है। रेलवे की सप्लाई का सामान दुकान में आने से एजेंसी को नुकसान हो रहा था, लेकिन उससे भी ज्यादा नुकसान उन सामानों को दूसरी जगह खपाने के कारण हो रहा था। जहां यह सप्लाई होती है, दुकानदार एजेंसी से सामान नहीं लेते हैं क्योंकि मार्जिन उस मुकाबले कम होता है। यही विवाद सप्लायर और दुकानदान के बीच में इतना बढ़ गया कि कथित तौर पर एजेंसी के लोगों ने गुंडे बुला लिए। करीब सवा एक बजे इसी विवाद में कुछ गुंडों ने दुकानदार विनय पर फायरिंग कर दी। किस्मत से विनय ने झुककर जान बचा ली और बदकिस्मती से पीछे दूसरी दुकान में खड़े राहुल को गोली लग गई।  

फायरिंग से मौत देख भाग रहे 3 आरोपियों को लोगों ने पकड़कर पीटा 
गोली लगने के बाद राहुल करीब 20 कदम तक भागा, लेकिन फिर औंधे मुंह गिर पड़ा। यह देखकर आरोपी भागने लगे। इनमें दो आरोपी पास के ही बैंक के ब्रांच में घुस गया, जबकि तीसरा सड़क पर ही भाग रहा था। लोगों ने ब्रांच में घुसे दोनों आरोपियों को जमकर पीटा, जबकि भीड़ से दूर पकड़ा गया आरोपी कम पिटाया। घटना की जानकारी कुछ ही मिनट में आसपास के इलाकों में फैल गई। सारी दुकानें बंद हो गईं और लोगों ने जक्कनपुर थाना के खिलाफ जमकर गुस्से का इजहार किया। घटनास्थल पर पहुंचे एएसपी को भी लोगों ने घंटेभर तक घेरे रखा। लोगों की भीड़ शाम तक पुलिस-प्रशासन के लापरवाह रवैए, गश्ती नहीं किए जाने और आरोपियों को बचाने का आरोप लगाकर हंगामा करती रही। उग्र भीड़ ने अपराधियों की बाइक को भी जला दिया। एएसपी संदीप के अनुसार बंटी समेत तीन आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है, जबकि बाइक से फरार बताए गए दो आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास जारी है। 

शाम 7 बजे पहुंची लाश तो गमगीन हुआ माहौल, राजनेता भी पहुंचे
घटना के बाद विपक्ष ने बिहार में कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार पर निशाना साधा। नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने भी हत्याकांड के बाद करबिगहिया पहुंचकर व्यावसायियों से बात की। इधर, पोस्टमार्टम के बाद शाम करीब 7 बजे मृतक राहुल का शव करबिगहिया लाया गया। शव पहुंचने के बाद एक तरफ परिवार वाले गम में डूबे रहे तो दूसरी तरफ व्यावसायियों ने कर्मियों समेत एजेंसी पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए पुलिस गश्ती बढ़ाने की मांग पर नारेबाजी की।

विस्तार

पटना जंक्शन के दूसरे पार करबिगहिया जंक्शन के पास प्रख्यात बिहारी साव मिल कंपाउंड के बाहर मुख्य सड़क पर दो पक्षों के बीच विवाद में तीसरे की मौत हो गई। जिस दुकानदार से झंझट हो रहा था, फायरिंग उसपर हुई थी लेकिन उसके झुक जाने पर गोली पीछे खड़े दूसरे दुकानदार राहुल (23) को लग गई। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इधर फायरिंग के बाद भागते तीन आरोपियों को लोगों ने दौड़कर पकड़ लिया और जमकर पीट दिया। रेल सप्लाई को दुकान में खपाने के कारण एजेंसी की मार्जिन खराब होने पर विवाद की शुरुआत हुई थी। 

ढाई घंटे से चल रहा था विवाद, गुंडा बुलाकर फायरिंग का आरोप 

करबिगहिया जंक्शन से चिरैयाटांड़ पुल की ओर जाने वाले रास्ते पर शुक्रवार सुबह बिहार साव कंपाउंड की किराना दुकानें सामान्य दिनों की तरह खुली ही थीं कि कृष्णा साह के बेटे विनय से एक फूड प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी की एजेंसी के कर्मियों का जमकर विवाद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार एजेंसी का विरोध इस बात से था कि दुकानदान रेलवे के लिए विशेष सप्लाई होने वाले उत्पाद खरीदता और बेचता है। सामान्य सप्लाई और रेलवे की सप्लाई के मार्जिन में अंतर रहता है। रेलवे की सप्लाई का सामान दुकान में आने से एजेंसी को नुकसान हो रहा था, लेकिन उससे भी ज्यादा नुकसान उन सामानों को दूसरी जगह खपाने के कारण हो रहा था। जहां यह सप्लाई होती है, दुकानदार एजेंसी से सामान नहीं लेते हैं क्योंकि मार्जिन उस मुकाबले कम होता है। यही विवाद सप्लायर और दुकानदान के बीच में इतना बढ़ गया कि कथित तौर पर एजेंसी के लोगों ने गुंडे बुला लिए। करीब सवा एक बजे इसी विवाद में कुछ गुंडों ने दुकानदार विनय पर फायरिंग कर दी। किस्मत से विनय ने झुककर जान बचा ली और बदकिस्मती से पीछे दूसरी दुकान में खड़े राहुल को गोली लग गई।  

फायरिंग से मौत देख भाग रहे 3 आरोपियों को लोगों ने पकड़कर पीटा 

गोली लगने के बाद राहुल करीब 20 कदम तक भागा, लेकिन फिर औंधे मुंह गिर पड़ा। यह देखकर आरोपी भागने लगे। इनमें दो आरोपी पास के ही बैंक के ब्रांच में घुस गया, जबकि तीसरा सड़क पर ही भाग रहा था। लोगों ने ब्रांच में घुसे दोनों आरोपियों को जमकर पीटा, जबकि भीड़ से दूर पकड़ा गया आरोपी कम पिटाया। घटना की जानकारी कुछ ही मिनट में आसपास के इलाकों में फैल गई। सारी दुकानें बंद हो गईं और लोगों ने जक्कनपुर थाना के खिलाफ जमकर गुस्से का इजहार किया। घटनास्थल पर पहुंचे एएसपी को भी लोगों ने घंटेभर तक घेरे रखा। लोगों की भीड़ शाम तक पुलिस-प्रशासन के लापरवाह रवैए, गश्ती नहीं किए जाने और आरोपियों को बचाने का आरोप लगाकर हंगामा करती रही। उग्र भीड़ ने अपराधियों की बाइक को भी जला दिया। एएसपी संदीप के अनुसार बंटी समेत तीन आरोपियों को हिरासत में ले लिया गया है, जबकि बाइक से फरार बताए गए दो आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास जारी है। 

शाम 7 बजे पहुंची लाश तो गमगीन हुआ माहौल, राजनेता भी पहुंचे

घटना के बाद विपक्ष ने बिहार में कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार पर निशाना साधा। नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने भी हत्याकांड के बाद करबिगहिया पहुंचकर व्यावसायियों से बात की। इधर, पोस्टमार्टम के बाद शाम करीब 7 बजे मृतक राहुल का शव करबिगहिया लाया गया। शव पहुंचने के बाद एक तरफ परिवार वाले गम में डूबे रहे तो दूसरी तरफ व्यावसायियों ने कर्मियों समेत एजेंसी पर सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए पुलिस गश्ती बढ़ाने की मांग पर नारेबाजी की।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *