brbreakingnews.com
Estimated worth
• $ 182,69 •

Bihar:मोतिहारी पुलिस ने 5 नाबालिग लड़कियों को मानव तस्करी के चंगुल से कराया मुक्त, 3 तस्कर गिरफ्तार – Motihari Police Freed 5 Minor Girls From The Clutches Of Human Trafficking, Arrested 3 Traffickers


पुलिस ने मानव तस्करी करने के आरोप में 3 तस्करों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने मानव तस्करी करने के आरोप में 3 तस्करों को किया गिरफ्तार
– फोटो : AMAR UJALA DIGITAL

विस्तार

मोतिहारी की पुलिस ने तीन मानव तस्करों को गिरफ्तार करते हुए पांच नाबालिग लड़कियों को मानव तस्करी के चंगुल से मुक्त कराया है। यह गिरफ्तारी पूर्वी चंपारण के तुरकौलिया थाना क्षेत्र से कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन, चाइल्ड लाइन और मुक्ति फाउंडेशन के सहयोग से किया गया है। मुक्त कराई गई उन लड़कियों में चार आसाम की जबकि एक पश्चिम बंगाल की है। वहीं गिरफ्तार तस्कर बंगाल और आसाम के निवासी हैं। बरामद की गई लडकियों ने बताया कि ये लोग अच्छा काम दिलाने और ओर्केस्ट्रा में काम दिलाने के नाम पर बहला फुसला कर बिहार लाते हैं। फिर ओर्केस्ट्रा में डांसर का काम कराकर इन्हें मात्र 2000-2500 रूपये ही देते थे। इनका यह भी आरोप है कि ऑफ सीजन में ये लोग जबरन देह व्यापार का धंधा भी कराते हैं। विरोध करने पर मार-पीट भी की जाती है।

 

एनजीओ के पहल पर बची जान  

कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन को सूचना मिली कि पश्चिम बंगाल से कुछ नाबालिग लड़कियों को तस्करी कर मोतिहारी लाया गया है। सूचना मिलते ही कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन, मुक्ति फाउंडेशन और चाइल्ड लाइन ने उन लड़कियों की तलाश शुरु कर दी। खोजबीन के क्रम में जानकारी मिलते ही तुलकौलिया पुलिस की मदद लेते हुए महनवा गांव में छापेमारी की गई। इस छापेमारी में उन पांचों नाबालिग लड़कियों को बरामद किया गया। उन लड़कियों में चार आसाम की जबकि एक लड़की पश्चिम बंगाल की है।

तीन तस्कर चढ़े पुलिस के हत्थे  

पुलिस ने छापेमारी के दौरान तीन मानव तस्करों को भी गिरफ्तार किया है जिसमें दो आसाम और एक पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। उनकी पहचान आसाम के गुवाहाटी कामरुख फाटा सिलाम्बरी स्थित कान्ताबारी निवासी मुसा शेख, कामरुख जिला के दिसपुर थाना क्षेत्र स्थित गणेशपुरी निवासी पवित्र राभा और   पश्चिम बंगाल के बारा सागर थाना क्षेत्र के 24 परगना निवासी सुशांत अधिकारी के रूप में की गई है। 

यह है चिंता का विषय 

चाइल्ड लाइन के दिग्विजय कुमार का कहना है कि अब तक पश्चिम बंगाल से तस्करी कर लड़कियों को लाया जाता रहा है।लेकिन यह पहली बार देखने को मिला है कि आसाम की लड़कियों को भी इस दलदल में धकेला जा रहा है।उन्होंने बताया कि कई दिन पहले आसाम की लड़कियों के संबंध में उन्हें सूचना मिली थी जिन्हें लगातार ट्रैक किया जा रहा था। तुरकौलिया पुलिस की मदद से इन लड़कियों को मुक्त कराया जा सका है। अब उन नाबालिग लड़कियों को 

 बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा जिसके बाद बाल कल्याण समिति के आदेश पर लड़कियों को पुनर्वासित करने की कार्रवाई की जाएगी।

क्या कहती है पुलिस 

इस मामले पर जानकारी देते हुए सदर डीएसपी अरुण कुमार गुप्ता ने बताया कि एनजीओ के द्वारा सूचना मिली थी कि तुरकौलिया थाना क्षेत्र से पांच नाबालिग लड़कियों को मानव तस्करों के द्वारा बहला-फुसलाकर लाया गया है जिनसे अच्छा काम दिलाने के नाम पर ओर्केस्ट्रा में डांस कराया जाता था। फिलहाल उन गिरफ्तार तस्करों से पुलिस पूछताछ कर रही है।



Source link

Leave a Comment