Mawlynnong Village Of Meghalaya Is Called God's Garden It Is The Cleanest Village In Asia - Mawlynnong Village Of Meghalaya: भारत के इस गांव को कहा जाता है भगवान का बगीचा, इस खासियत के कारण मिला दर्जा » Br Breaking News
December 9, 2022


Mawlynnong village of Meghalaya- India TV Hindi News
Image Source : SOURCED
Mawlynnong village of Meghalaya

Mawlynnong Village of Meghalaya:  हरी भरी धरती, लहलहाती फसल, पर्यावरण अनुकूल जीवन शैली, अपराध मुक्त समाज और उच्च साक्षरता दर यदि किसी गांव में मिल जाए तो कोई क्यों न वहां के वासी होना चाहे। मेघालय के मावल्यान्नांग गांव में आने वाले अधिकतर पर्यटक इसी उम्मीद में रहते हैं कि किसी तरह इस गांव की वासी हो जाएं। इस गांव को युनेस्को ने भी सराहा है। यह गांव हमेशा साफ सुथरा रहता है। साफ सफाई में इस गांव के सभी ग्रामीण डटे रहते हैं। पढ़े लिखे लोगों से परिपूर्ण यह गांव कई सारी खासियत के लिए सुर्खियां बटोरती रहती है। यहां पेड़ के जड़ों से बना विश्व का अजूबा पुल है। बैलेंसिंग रॉक्स, अनेकों दिलचस्प झरना, साफ नदी और आसपास घास का मखमल सा मैदान मानो भगवान का वरदान हो। इस गांव की चमक में स्वर्ग सा महसूस होता है।

मावल्यान्नांग को 2003 में एशिया का सबसे साफ गांव का खिताब मिल चुका है। साल 2005 में इसे भारत का सबसे साफ सुथरा गांव घोषित किया गया। इस गांव के प्राकृतिक पुल को युनेस्को ने विश्व विरासत का दर्जा दिया है। यहां की साक्षरता दर 100 प्रतिशत है यानी यहां कोई भी निरक्षर नहीं है इसी का नतीजा है कि यहां सभी जागरूक हैं। यहां के ग्रामीणों के संस्कार और आतिथ्य के दीवाने विदेशी पर्यटक भी हैं। इस गांव की भाषा अंग्रेजी है।

मावल्यान्नॉंग गांव भगवान का बगीचा क्यों?

  1. यहां पर प्रकृति और इंसान को एक-दूसरे के लिए दोस्त समान व्यवहार करते हुए महसूस किया जा सकता है। प्रकृति के प्रति ग्रामीण सम्मान की भाव रखते हैं। प्रकृति के साथ रत्तीभर भी छेड़छाड़ नहीं करते हैं। प्रकृति की गोद में बसा यह गांव सामान्य गांव से बिल्कुल अलग और अजूबा लगता है। 
  2. साफ सफाई का खूब ख्याल रखा जाता है। प्लास्टिक का उपयोग यहां नहीं किया जाता है। कोशिश रहती है कि प्रकृति के साथ क़दम मिलाकर चला जाए।
  3. यहां के लोग महिलाओं का सम्मान करते हैं। इस गांव में खासी जनजाति रहती है। ये लोग अपने संतान के नाम में माता का सरनेम इस्तेमाल करते हैं। कहा भी जाता है- जहां स्त्रियों का सम्मान होता है वहां भगवान वास करते हैं। 
  4. यह गांव अपराध मुक्त है। पर्यटकों के साथ कोई भी गलत व्यवहार यहां नहीं किए जाते हैं। यानी यहां के लोग अनुशासन प्रिय हैं।

ये भी पढ़ें – 

 Tourist Places: हिमाचल के इस गांव में आज भी नहीं आते मोबाइल के सिग्नल, ट्रैकिंग के हैं शौकीन तो जरूर करें एक्सप्लोर

 Tourism In India: अरे वाह! दुनिया का सबसे बेहतरीन पर्यटन गांव है भारत में, पोचमपल्‍ली की खूबसूरती देख खुली रह जाएंगी आपकी आंखें

Delhi के इन बाजारों में महज 100 रुपए में मिल जाते हैं स्टाइलिश कपड़े, आज ही करें शॉपिंग

Latest Lifestyle News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Travel News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *