November 28, 2022


सांकेतिक तस्वीर।

सांकेतिक तस्वीर।
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

बिहार के कटिहार जिले में धर्म छिपाकर शादी करने का मामला सामने आया है। आरोपी तौकरी ने राज नाम बताकर युवती को अपने प्यार के जाल में फंसाया और फिर 2016 में सगाई के बाद शादी कर ली। करीब एक दो साल बाद पीड़िता ने अपने ससुराल जाने की जिद की तो आरोपी उसेस अपनी बहन के घर ले गया। जहां पीड़िता को सच्चाई पता चली। जिसके बाद से आरोपी ने पीड़िता को घर में कैद कर लिया। ना किसी से मिलने देता है और ना ही किसी से बात करने देता है।    

जानकारी के अनुसार कटिहार जिले के मनिहारी थाना इलाके की बीएन कॉलोनी की रहने वाली जुली कुमारी (29) पिता कुमेद सिंह रहती है। जूली के पिता सब्जी बेचकर परिवार का जीवनयापन करता था। जुली की फेसबुक के जरिये राज (38) नाम के लड़के से पहचान हुई। उसने अपने पिता का नाम अमित सिंह बताया और कहा कि वह दिल्ली में परिवार के साथ रहता है। 

कुछ महीनों तक बात करने के बाद दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे। 2016 में सगाई करने क बाद उन्होंने शादी कर ली। शादी के कुछ समय बाद जुली ससुराल जाने के जिद करने लगी, लेकिन राज उसे नहीं ले गया। जब उसकी जिद ज्यादा बढ़ी तो वह उसे अपनी बहन के घर ले गया। जहां जूली को पता चला कि राज का असली नाम तौकीर और उसके पिता का नाम मो. नासिर है। साथ ही तौकीर पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। 

सच्चाई सामने आने के बाद जूली ने विरोध किया तो तौकीर ने उसके साथ मारपीट की और उसका फोन छीन लिया। उसे जबरन घर में कैद रखा जाने लगा ताकि वह किसी को यह बात न बता दे। पीड़िता जुली ने बताया कि उसे खाने के लिए वहीं चीजें दी जाती तो वह नहीं खाती थी। हंगामा ज्यादा बड़ा तो तय किया गया कि जुली अपना खाना अलग बनाएगी। अधिवक्ता राजीव कर्ण बताते हैं कि तौकीर के परिजन जुली के साथ लगातार मारपीट कर रहे हैं, जबकि तौकीर सऊदी अरब में हैं।   

राजीव कर्ण का कहना है कि सीमांचल की सैकड़ों युवतियां दूसरे धर्म के युवकों के कथित प्रेम जाल में फंसकर प्रताड़ना झेल रहीं है। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में गृह मंत्री अमित शाह सीमांचल के दौरे पर आये थे। पीएम नरेंद्र मोदी और उन्हें इस तरह के मामलों पर ध्यान देना चाहिए। 

विस्तार

बिहार के कटिहार जिले में धर्म छिपाकर शादी करने का मामला सामने आया है। आरोपी तौकरी ने राज नाम बताकर युवती को अपने प्यार के जाल में फंसाया और फिर 2016 में सगाई के बाद शादी कर ली। करीब एक दो साल बाद पीड़िता ने अपने ससुराल जाने की जिद की तो आरोपी उसेस अपनी बहन के घर ले गया। जहां पीड़िता को सच्चाई पता चली। जिसके बाद से आरोपी ने पीड़िता को घर में कैद कर लिया। ना किसी से मिलने देता है और ना ही किसी से बात करने देता है।    

जानकारी के अनुसार कटिहार जिले के मनिहारी थाना इलाके की बीएन कॉलोनी की रहने वाली जुली कुमारी (29) पिता कुमेद सिंह रहती है। जूली के पिता सब्जी बेचकर परिवार का जीवनयापन करता था। जुली की फेसबुक के जरिये राज (38) नाम के लड़के से पहचान हुई। उसने अपने पिता का नाम अमित सिंह बताया और कहा कि वह दिल्ली में परिवार के साथ रहता है। 

कुछ महीनों तक बात करने के बाद दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे। 2016 में सगाई करने क बाद उन्होंने शादी कर ली। शादी के कुछ समय बाद जुली ससुराल जाने के जिद करने लगी, लेकिन राज उसे नहीं ले गया। जब उसकी जिद ज्यादा बढ़ी तो वह उसे अपनी बहन के घर ले गया। जहां जूली को पता चला कि राज का असली नाम तौकीर और उसके पिता का नाम मो. नासिर है। साथ ही तौकीर पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। 

सच्चाई सामने आने के बाद जूली ने विरोध किया तो तौकीर ने उसके साथ मारपीट की और उसका फोन छीन लिया। उसे जबरन घर में कैद रखा जाने लगा ताकि वह किसी को यह बात न बता दे। पीड़िता जुली ने बताया कि उसे खाने के लिए वहीं चीजें दी जाती तो वह नहीं खाती थी। हंगामा ज्यादा बड़ा तो तय किया गया कि जुली अपना खाना अलग बनाएगी। अधिवक्ता राजीव कर्ण बताते हैं कि तौकीर के परिजन जुली के साथ लगातार मारपीट कर रहे हैं, जबकि तौकीर सऊदी अरब में हैं।   

राजीव कर्ण का कहना है कि सीमांचल की सैकड़ों युवतियां दूसरे धर्म के युवकों के कथित प्रेम जाल में फंसकर प्रताड़ना झेल रहीं है। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में गृह मंत्री अमित शाह सीमांचल के दौरे पर आये थे। पीएम नरेंद्र मोदी और उन्हें इस तरह के मामलों पर ध्यान देना चाहिए। 





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *