IND Vs ENG Reasons Behind Win Of England Against India In Semi Final T20 World Cup 2022 » Br Breaking News
December 6, 2022
IND Vs ENG Reasons Behind Win Of England Against India In Semi Final T20 World Cup 2022


India vs England T20 World Cup 2022: जब इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर ने एडिलेड ओवल में टी20 विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में भारत का 10 विकेट से सफाया पूरा करने के लिए मोहम्मद शमी की गेंद को बाउंड्री पार के लिए भेजा तो गेंद विराट कोहली के सिर के ऊपर से निकल गई. भारत के पूर्व मुख्य कोच, रवि शास्त्री ने कहा, कि यह सबसे ऊंचा है. यह विराट के ऊपर से निकल गया और इंग्लैंड जीत गया. गुरुवार शाम टॉस से लेकर बटलर और एलेक्स हेल्स तक भारत के पक्ष में कुछ भी नहीं गया, जिन्होंने उनकी गेंदबाजी की लय को बिगाड़ दिया था. उन्होंने भारत को धो डाला.

भारत 2021 टी20 विश्व कप से जल्दी बाहर होने के बाद से 35 टी20 में से 26 जीतने के बाद अक्टूबर की शुरूआत में ऑस्ट्रेलिया पहुंचा था. उनके पास एक नया कप्तान, नया मुख्य कोच, बल्ले के साथ एक नया अति-आक्रमणकारी दृष्टिकोण और पर्थ के साथ-साथ ब्रिस्बेन में अभ्यास मैच खेलने के लिए विश्व कप के लिए नौ साल के इंतजार को समाप्त करने के लिए बेहद अच्छा समय लग रहा था.

केएल राहुल ने जिम्बाब्वे और बांग्लादेश के खिलाफ अर्धशतक लगाया था, लेकिन जब पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड जैसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमणों द्वारा उनका परीक्षण किया गया, तो उनका स्कोर नीदरलैंड के खिलाफ 9 के अलावा क्रमश: 4, 9 और 5 था.

कप्तान रोहित शर्मा ने टूर्नामेंट में बल्ले से आक्रमक पारी नहीं खेली. हालांकि उन्होंने नीदरलैंड के खिलाफ 53 रन बनाए, लेकिन यह एक मुश्किल प्रयास था. 5, 15, 2, 15 और 27 के अन्य स्कोर के साथ, रोहित अक्सर डीप में क्षेत्ररक्षकों की ओर अपना पसंदीदा पुल शॉट खेलते समय आउट हो जाते थे.

News Reels

सेमीफाइनल में राहुल ने क्रिस वोक्स की गेंद पर विकेट के पीछे एक आसान कैच दिया. रोहित और राहुल के बीच ओपनिंग पार्टनरशिप आम तौर पर जबरदस्त रही है, जिसमें 46.26 की औसत से पांच शतक और 15 अर्धशतक शामिल हैं. लेकिन टी20 वल्र्ड कप में एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए. उनका सर्वोच्च स्टैंड जिम्बाब्वे के खिलाफ सिर्फ 27 था जबकि अन्य स्टैंड 7, 11, 23, 11 और 9 था. भारत का ओपनिंग स्टैंड के लिए रन रेट 4.98 रहा, जो सबसे कम था. वहीं, नीदरलैंड के खिलाफ 5.58 और अफगानिस्तान के खिलाफ 6.27 रन रेट था.

राहुल के उदासीन फॉर्म और रोहित के घटते फार्म का मतलब था कि भारत ने कभी भी पावर-प्ले का अच्छा इस्तेमाल नहीं किया. 2022 के पावर-प्ले रन रेट में, भारत ने द्विपक्षीय श्रृंखला में उच्च 8.59 प्रति ओवर का स्कोर बनाया. लेकिन एशिया कप 2022 में, यह टी20 विश्व कप में घटकर केवल 6.02 प्रति ओवर होने से पहले 8 रन प्रति ओवर हो गया. राहुल और रोहित इस साल पॉवरप्ले में चार बार आउट हुए.

विश्वकप में भारत की बल्लेबाजी विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव और हार्दिक पांड्या के भरोसे रही. हालांकि, कोहली और यादव ने भारत के लिए 52.97 प्रतिशत रन बनाए. वहीं, पांड्या ने अंतिम पांच ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के सहयोग से पारी को अंजाम दिया.

इंग्लैंड के खिलाफ, भारत को कभी भी त्वरित पुनर्निर्माण की अनुमति नहीं दी गई. जैसा कि बटलर ने स्पिनरों आदिल राशिद और लियाम लिविंगस्टोन को नियुक्त किया था, भारत की बल्लेबाजी कभी भी बीच के ओवरों में मुक्त होती नहीं दिखी, जिसके परिणामस्वरूप भारत के शीर्ष-तीन में सिर्फ 73 गेंदों पर 82 रन बने.

गेंद के साथ, जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जडेजा की अनुपस्थिति में, भारत ने पावर-प्ले में स्विंग का उपयोग करने के लिए भुवनेश्वर कुमार और अर्शदीप सिंह पर बड़ा भरोसा किया. भारत ने युजवेंद्र चहल को टीम में शामिल नहीं किया. वहीं, रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल टीम में स्पिन के लिए शामिल थे. वेस्टइंडीज में टी20 विश्व कप के 2024 सीजन के साथ, यह उचित समय है कि भारत नए तरीके से टी20 के करीब आने में बाकी दुनिया के साथ पकड़ बनाए, भले ही खिलाड़ियों में परिवर्तन क्यों न किया जाए.

यह भी पढ़ें : T20 WC Final 2022: पाकिस्तान के पर क्यों भारी पड़ सकती है इंग्लैंड की टीम? जानें जरूरी आंकड़े



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *