Congress Task Force For 2024 Mission To Hold First Meeting In Under New Party President Mallikarjun Kharge » Br Breaking News
December 7, 2022


Congress Task Force Meeting: 2024 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) की रणनीति बनाने के लिए गठित किया गया कांग्रेस कार्यदल (Congress Task Force) सोमवार (14 नवंबर) को बैठक करेगा. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे (Mallikarjun Kharge) की अध्यक्षता में बैठक की जाएगी. खरगे के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस टास्क फोर्स की यह पहली बैठक होगी. टास्क फोर्स के सदस्य नए कांग्रेस अध्यक्ष खरगे को अपने काम और 2024 के लोकसभा चुनाव की योजना से अवगत कराएंगे. 

कांग्रेस के उदयपुर सम्मेलन से पहले इस टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की गई थी. कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आठ सदस्यीय एक समिति की रिपोर्ट मिलने के बाद इस साल अप्रैल में टास्क फोर्स का गठन किया था. कांग्रेस टास्क फोर्स के सदस्यों में पी चिदंबरम, मुकुल वासनिक, जयराम रमेश, केसी वेणुगोपाल, अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला, प्रियंका गांधी वाड्रा और सुनील कानुगोलू शामिल हैं.

खरगे ले रहे बड़े फैसले 

मल्लिकार्जुन खरगे ने 26 अक्टूबर को कांग्रेस का शीर्ष पद संभालने के साथ ही बड़े फैसले लेना शुरू कर दिया था. उन्होंने कांग्रेस वर्किंग कमेटी को खत्म कर स्टीयरिंग कमेटी की घोषणा कर दी थी. कांग्रेस की स्टीयरिंग कमेटी में 47 नेताओं को शामिल किया गया, लेकिन खरगे के खिलाफ शीर्ष पद के मुकाबले में रहे शशि थरूर को लिस्ट में जगह नहीं दी गई. जानकारी के मुताबिक, स्टीयरिंग कमेटी का गठन कांग्रेस पार्टी के सभी बड़े फैसलों पर मुहर लगाने के लिए किया गया. 

News Reels

इसी के साथ खरगे ने उदयपुर सम्मेलन के फैसलों को अमल में लाने की बात कही थी. इसी के तहत उन्होंने घोषणा की थी कि कांग्रेस में 50 फीसदी पद 50 साल से कम उम्र के लोगों को दिए जाएंगे. जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता 50 की उम्र के पार हैं. राहुल गांधी भी पचास की उम्र का आंकड़ा पार कर चुके हैं, वह 52 साल के हैं. प्रियंका गांधी वाड्रा भी 50 वर्ष की हैं. 

खरगे की अग्निपरीक्षा

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे फिलहाल गुजरात के विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों में जोश भर रहे हैं. हिमाचल चुनाव के लिए चुनाव प्रचार में भी उन्होंने भाग लिया और रैलियां कीं. वह अब गुजरात में हुंकार भरेंगे. खरगे को कांग्रेस अध्यक्ष पद की कमान ऐसे समय मिली जब ये दो बड़े चुनाव सिर पर ही थे. इन चुनावों को खरगे की अग्निपरीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि राहुल गांधी कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में व्यस्त हैं.

यह भी पढ़ें-

Parliament Winter Session: संसद के शीतकालीन सत्र में शामिल नहीं होंगे राहुल गांधी, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बताई वजह



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *