December 10, 2022


Coimbatore Car Explosion: केंद्र सरकार ने कोयंबटूर में एक मंदिर के पास पिछले दिनों हुए विस्फोट के मामले की जांच राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) को सौंपने का फैसला किया है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. इससे पहले तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने रविवार (23 अक्टूबर) को हुए विस्फोट के मामले में एनआईए से जांच कराने की सिफारिश की थी. विस्फोट में एक इंजीनियर की मौत हो गयी थी.

एक अधिकारी ने कहा, ‘‘केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोयंबटूर विस्फोट मामले को एनआईए को सौंपने का फैसला किया है.’’ तमिलनाडु सरकार ने कहा कि जांच केंद्रीय एजेंसी को सौंपने की सिफारिश करने का फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि इसमें ‘राज्य के बाहरी तत्वों’ की संलिप्तता है और ‘संभवत: अंतरराष्ट्रीय तार’ जुड़े हैं. 

कार में हुआ था ब्लास्ट

कोयंबटूर में एक मंदिर के पास रविवार को एक कार में विस्फोट हो गया था जिसमें दो गैस सिलेंडर रखे थे. कार को 29 वर्षीय इंजीनियर जमीशा मुबीन चला रहा था. विस्फोट उस वक्त हुआ था जब मुबीन इस कार से मंदिर के पास से गुजर रहा था और उसने कथित तौर पर एक पुलिस जांच चौकी से बचने की कोशिश की थी. 

ताज़ा वीडियो

पांच लोगों को किया गिरफ्तार

पुलिस ने मुबीन से संपर्क में रहे पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया और उन पर यूएपीए (UAPA) के तहत मामला दर्ज किया गया है. पुलिस के अनुसार, मुबीन पर श्रीलंका में ईस्टर बम विस्फोट के बाद 2019 से एनआईए की नजर थी, लेकिन उसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया गया था.

पूरा मामला क्या है?

तमिलनाडु के कोयंबटूर में दिवाली की पूर्व संध्या पर एक कार में हुए धमाके के सिलसिले में पुलिस ने गुरुवार (27 अक्टूबर) को एक और आरोपी को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने बताया था कि गिरफ्तार अफसर खान स्थानीय निवासी है और 23 अक्टूबर को कार में हुए धमाके के लिए विस्फोटक सामग्री उपलब्ध कराने में उसने कथित तौर पर अहम भूमिका निभाई जो जमेशा मुबीन के घर से जब्त की गई थी. पुलिस ने बताया कि 28 वर्षीय खान मुबीन का रिश्तेदार है और ई-कॉमर्स मंच से बड़ी मात्रा में विस्फोटक खरीदने में उसने मदद की थी.

यह भी पढ़ें-

Coimbatore Explosion Case: ‘कोयंबटूर ब्लास्ट केस NIA को सौंपेगी तमिलनाडु सरकार’, सीएम एमके स्टालिन का बयान



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *