December 10, 2022


Gujarat News: गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इससे पहले गुजरात को बड़ी सौगात मिली है. वडोदरा में सी-295 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट का निर्माण होगा. ‘मेक इन इंडिया’ और घरेलू विमानन निर्माण को बढ़ावा देने के लिए इस परियोजना की शुरुआत की जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 अक्टूबर को गुजरात के वडोदरा में भारतीय वायु सेना (IAF) के लिए इस परिवहन विमान निर्माण परियोजना की आधारशिला रखेंगे. इस परियोजना की कुल लागत 21,000 करोड़ है. 

30 अक्टूबर को वडोदरा में आयोजित समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्रभाई पटेल शामिल होंगे. सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति ने 08 सितंबर, 2021 को मैसर्स एयरबस डिफेंस एंड स्पेस एसए, स्पेन से 56 सी-295 मेगावाट परिवहन विमान की खरीद को मंजूरी दी थी. 24 सितंबर, 2021 को, रक्षा मंत्रालय ने संबंधित उपकरणों के साथ विमान के अधिग्रहण के लिए मेसर्स एयरबस डिफेंस एंड स्पेस एसए के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए थे.

रक्षा सचिव ने दी पूरी जानकारी

रक्षा सचिव अजय कुमार ने इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि, “पहली बार ऐसा हो रहा है कि सी-295 विमान का निर्माण यूरोप के बाहर किया जाएगा और इस परियोजना के तहत पहली बार किसी निजी कंपनी द्वारा सैन्य विमान का निर्माण भारत में किया जाना है. इस परियोजना की कुल लागत ₹ 21,935 करोड़ है. विमान का उपयोग नागरिक उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है.” 

ताज़ा वीडियो

इस परियोजना से वायुसेना को एयरबस कंपनी के 56 मीडियम-लिफ्ट मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट्स, सी-295 मिलेंगे, जिसमें से 16 एयरक्राफ्ट सीधे एयरबस से खरीदे जाएंगे, बाकी 40 टाटा‌ एडवां‌स कंपनी के साथ भारत (वडोदरा) में ही बनाए जाएंगे.

एयरक्राफ्ट की ये होंगी खूबियां

सी-295 एयरक्राफ्ट करीब 6 टन का पेयलोड ले जा सकता है और करीब 11 घंटे तक उड़ान भर सकता है. एयरबस कंपनी के मुताबिक, सी295 विमान एक साथ 71 सैनिक या फिर 50 पैराट्रूपर्स को एक साथ युद्ध-मैदान में ले जाने में सक्षम है. भारतीय वायुसेना के पास फिलहाल मीडियम-लिफ्ट वजन के जो एवरो एयरक्राफ्ट हैं वे काफी पुराने पड़ चुके हैं, उनकी जगह लेंगे सी-295 एयरक्राफ्ट. 

इसमें त्वरित प्रतिक्रिया और सैनिकों और कार्गो के पैरा ड्रॉपिंग के लिए एक रियर रैंप दरवाजा है. शॉर्ट टेक-ऑफ इसकी एक और विशेषता है. विमान भारतीय वायुसेना की रसद क्षमताओं को मजबूत करेगा.

यह भी पढ़ें:
Hate Speech Case: हेट स्पीच मामले में सजा, जुर्माना और जमानत, आजम खान बोले- ‘मैं इंसाफ का कायल हो गया’



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *