Brown Sugar Vs White Sugar: ब्राउन या फिर ह्वाइट शुगर के भ्रम में तो नहीं हैं आप? जानें हेल्थ के लिए कौन है बेहतर » Br Breaking News
December 7, 2022
Brown Sugar vs White Sugar: ब्राउन या फिर ह्वाइट शुगर के भ्रम में तो नहीं हैं आप? जानें हेल्थ के लिए कौन है बेहतर


Benefits and Drawbacks of Brown and White Sugar: जब भी कोई खुशी का मौका होता है तो हम सभी लोग कुछ मीठा जरूर खाते हैं फिर चाहे वो कोई त्योहार हो या फिर कोई बर्थडे पार्टी या शादी का जश्न हो. मिठाई के बिना ये सभी पल अधूरे से लगते हैं. लेकिन जो लोग स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहते हैं वो ज्यादा मीठा खाने से या फिर ह्वाइट शुगर के इस्तेमाल से बचते हैं. सेहतमंद लोगों के बीच में अक्सर ब्राउन शुगर और ह्वाइट शुगर को लेकर डिबेट होती रहती है. वर्तमान समय में हेल्थ को बनाए रखने के लिए लोग ब्राउन शुगर की तरफ ज्यादा आकर्षित होते हैं, लेकिन कई बार लोग बिना किसी सलाह के इसका इस्तेमाल शुरू कर देते हैं जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है.

दुनिया में अधिकांश लोगों के यहां ब्राउन यानी भूरी चीनी की जगह सफेद चीनी का इस्तेमाल अधिक किया जाता है. लेकिन बहुत से लोगों को यह नहीं पता होता कि उनके लिए किस तरह की शुगर ज्यादा फायदेमंद होगी. अक्सर लोग देखादेखी में ब्राउन शुगर का उपयोग करना शुरू कर देते हैं. हेल्दीफाईमें की खबर के अनुसार विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा 2019 में किए गए एक सर्वेक्षण में यह पाया गया है कि दुनियाभर में डायबिटीज ने करीब 1.5 मिलियन लोगों की जान ली है. इस बीमारी के बढ़ने के पीछे शुगर को एक मुख्य कारण माना जाता है. आइए जानते हैं कि आखिर हमारे स्वास्थ्य के लिए ब्राउन शुगर और ह्वाइट शुगर में कौन ज्यादा फायदेमंद है.

सफेद चीनी के स्वास्थ्य लाभ और नुकसान (Health Benefits and Risks of White Sugar)

फायदे:
ऊर्जा का भरपूर स्रोत:
सफेद चीनी एक तरह का कार्बोहाइड्रेट है और साथ ही यह एक सूक्ष्म पोषक तत्व भी माना जाता है. इसके इस्तेमाल से शरीर में ऊर्जा का संचार होता है. यह शरीर में जाने के बाद शर्करा को ग्लूकोज में बदल देता है और फिर शरीर इसका इस्तेमाल ऊर्जा के रूप में करता है.

ब्रेन की कार्यप्रणाली में भी होता है सुधार: ग्लूकोज हमारे ब्रेन के लिए एक तरह से ईधन की तरह काम करता है. हमारे शरीर की पूरी कार्यप्रणाली हमारे ब्रेन से कंट्रोल होती है इसलिए ब्रेन को अधिक ऊर्जा की जरूरत होती है इसलिए इसे ग्लूकोज की नियमित आपूर्ति की आवश्यकता होती है और सफेद चीनी आवश्यकताओं को पूरा कर सकती है. अगर एक सीमित मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो सफेद चीनी मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार कर सकती है.

आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करती है: सफेद चीनी का असर हमारे मानसिक स्तर पर भी पड़ता है. यह उदास और परेशान मनुष्य का मूड बदलकर उसे खुश करने में मदद करती है. इसके अलावा चीनी हमारे ब्रेन के उस प्वाइंट को ट्रिगर करती है जिससे हम किसी तरह का आनंद महसूस करते हैं और इससे हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ता है.

World Mental Health Day 2022: वर्क लोड का भी मानसिक स्वास्थ पर पड़ता है बुरा असर, ऐसे करें बचाव

घाव को भरती है: यह बहुत ही कम लोग जानते हैं कि सफेद चीनी घाव को भरने में भी मदद करती है. कई तरह के घाव में सफेद चीना का लेप काफी फायदेमंद होता है. यह हमारे घाव में होने वाले बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकने में मदद करती है

सफेद चीनी के नुकसान

  • सफेद चीनी के इस्तेमाल से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है जिससे दिल की बीमारी का खतरा बना रहता है.
  • सीमित मात्रा से अधिक उपयोग करने पर सफेद चीनी मोटापे का भी कारण बन जाती है. चीनी में फ्रक्टोज की मात्रा अधिक होती है और यह भूख को बढ़ाता है जिससे वजन और मोटापा भी बढ़ने लगता है.
  • सफेद चीनी से हार्मोन्स के असंतुलन होने का भी खतरा बना रहता है. चीनी ब्लड में शर्करा के स्तर को बढ़ा देती है और इससे इंसुलिन की मात्रा बढ़ सकती है जिससे टेस्टोस्टेरोने जैसे अधिक एंड्रोजन हार्मोन का उत्पादन बढ़ता है.

Uric Acid Stone: यूरिक एसिड स्टोन क्या है? लिवर हो सकता है डैमेज! जानिए लक्षण और उपचार

  • सफेद चीनी आपकी नींद को भी प्रभावित कर सकती है. अच्छे स्वास्थ्य के लिए हर किसी को कम से कम 6-7 घंटे की पर्याप्त नींद लेनी चाहिए लेकिन अगर सफेद चीनी का इस्तेमाल अधिक करते हैं तो आपको कम नींद आ सकती है.

ब्राउन शुगर के स्वास्थ्य लाभ और नुकसान (Health Benefits and Risks of Brown Sugar)

फायदे

  • ब्राउन शुगर को अधिकांश लोग वजन कम करने के लिए उपयोग करते हैं. इसमें सफेद चीनी के मुकाबले कम कैलोरी होती है. ब्राउन शुगर में मौजूद शीरा मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने के लिए जाना जाता है और यह वजन कम करने में मदद करती है.
  • ब्राउन शुगर शरीर में तेजी से ऊर्जा पहुंचाता है. अगर आपको कमजोरी महससू हो रही है तो आप तुरंत ऊर्जा लेने के लिए ब्राउन शुगर ले सकते हैं क्योंकि इसमें यह एक साधारण कार्बोहाइड्रेट है जो कि शरीर में जाने के बाद ग्लूकोज में टूट जाता है और हमें ताकत मिलती है.
  • मासिक धर्म के क्रैम्प्स को कम करने के लिए भी कई बार ब्राउन शुगर का इस्तेमाल किया जाता है. यह एक घरेलू उपचार है. बस थोड़ा सा पानी उबालें और इसमें एक चम्मच ब्राउन शुगर और पिसी हुई अदरक और चाय की पत्ती डाले. इसके सेवन से आपको दर्द से राहत मिलेगी.
  • स्किन के निखार के लिए ब्राउन शुगर का खूब प्रयोग किया जाता है. अगर आप चिकनी त्वचा चाहते हैं तो ब्राउन शुगर एक बेहतरीन फिजिकल एक्सफोलिएंट है. यह हमारी स्किन पर मौजूद गंदगी और छोटे-छोटे धब्बों को खत्म करता है.

नुकसान

  • मीठे पदार्थ का सेवन आपकी हृदय गति को बढ़ा सकता है. अगर आप ब्राउन शुगर का इस्तेमाल करते हैं तो आपको बेचैनी महसूस हो सकती है और साथी है दिल की धड़कन बढ़ सकती है. अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आपके लिए यह और भी गंभीर हो सकता है.
  • ब्राउन शुगर ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा देता है. हालांकि इसमें कैलोरी की मात्र कम होती है लेकिन यह आपके शुगर लेवल को जरूर प्रभावित करती है.
  • अत्यधिक ब्राउन शुगर के प्रयोग से लिवर में मुक्त फैटी एसिड का उत्पादन भी बढ़ सकता है. फैटी एसिड के बढ़ने से शरीर में जगह जगह सूजन की समस्या आ सकती है. इससे आपको मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द महसूस हो सकता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle, Sugar



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *