brbreakingnews.com
Estimated worth
• $ 182,69 •

Politics | चीनी खतरे को लेकर राहुल की टिप्पणी पर भाजपा का पलटवार, कहा: यह मोदी का ‘नया भारत’ है


Rahul Gandhi and Rajyavardhan Singh Rathore

नयी दिल्ली. भारत द्वारा चीन से युद्ध के खतरे को नजरअंदाज करने संबंधी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को कहा कि वह भ्रम फैलाने और सैनिकों का मनोबल गिराने की कोशिश कर रहे हैं। पार्टी ने कहा कि यह जवाहरलाल नेहरू का 1962 का भारत नहीं है। भाजपा प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा, “यह मोदी का भारत है, यह नया भारत है। अब अगर कोई देश के खिलाफ आंख उठाता है तो उसे करारा जवाब मिलता है।”

राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि चीन भारत की सीमा पर युद्ध की तैयारी कर रहा है और भारत सरकार सोई हुई है और खतरे को नजरअंदाज करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि चीन ने 2,000 वर्ग किलोमीटर भारतीय क्षेत्र पर कब्जा कर लिया है, 20 भारतीय सैनिकों को मार डाला है और ‘अरुणाचल प्रदेश में हमारे जवानों की पिटाई कर रहा है।’ इस पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रवक्ता राठौर ने कहा, “राहुल गांधी को लगता है कि चीन के साथ निकटता होनी चाहिए। अब उनकी इतनी नजदीकियां बढ़ गई हैं कि उन्हें पता है कि चीन क्या करेगा।”

उन्होंने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने देश में भ्रम फैलाने और भारतीय सैनिकों का मनोबल गिराने के लिए भारतीय सुरक्षा और सीमावर्ती क्षेत्रों के बारे में टिप्पणी की है। उन्होंने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में 1962 में भारत-चीन युद्ध के संदर्भ में कहा, “यह उनके परनाना नेहरू का भारत नहीं है, जिन्होंने चीन के हाथों 37,242 वर्ग किलोमीटर जमीन गंवा दी थी।”

राठौर ने कहा कि गांधी को खुद को ‘फिर से लॉन्च’ करने के प्रयास में राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा, “परनाना के चीन को जमीन गंवाने के बाद अब उन्हें (राहुल को) लगता है कि चीन के साथ निकटता होनी चाहिए और उन्होंने चीन के साथ इतनी नजदीकी विकसित कर ली है कि वह जानते हैं कि चीन क्या करेगा।” सोनिया गांधी की अगुवाई वाले राजीव गांधी फाउंडेशन का जिक्र करते हुए राठौर ने आरोप लगाया, “यह चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के पेरोल पर था। कांग्रेस पार्टी ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री राठौर ने दावा किया कि केंद्र में कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के दौरान बड़ी संख्या में चीनी अतिक्रमण हुए जबकि 2014 में नरेन्द्र मोदी सरकार के सत्ता संभालने के बाद से सीमावर्ती बुनियादी ढांचे पर खर्च में तीन गुना वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि देश अब अपनी सीमाओं और क्षेत्र की दृढ़ता से रक्षा कर रहा है।

यह भी पढ़ें

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के 100 दिन पूरे होने पर राजस्थान में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा, ‘‘जो चीन का खतरा (थ्रेट) है.. और मुझे तो वो स्पष्ट है.. और मैं इसको अब दो-तीन साल से कह रहा हूं वो बिल्कुल स्पष्ट है और केंद्र सरकार उसको छिपाने की कोशिश कर रही है। सरकार उसको नजरअंदाज कर रही है मगर उस खतरे को ना छुपाया जा सकेगा और ना ही उसे अनदेखा किया जा सकेगा।”

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि चीन, भारत की सीमा पर युद्ध की तैयारी कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी पूरी तैयारी चल रही है..उनका लद्दाख की तरफ और अरूणाचल की तरफ पूरा आफेंसिव प्रिपेरेशन (आक्रामक तैयारी) चल रहा है… हिन्दुस्तान की सरकार सोई हुई है।” उन्होंने कहा, ‘‘बात को हिन्दुस्तान की सरकार सुनना नहीं चाहती है..मगर उनकी (चीन) तैयारी चल रही है, तैयारी युद्ध की है.. तैयारी कोई घुसपैठ की नहीं है… तैयारी युद्ध की है।” (एजेंसी)





Source link

Leave a Comment