November 28, 2022


Jammu & Kashmir and Ladakh: सर्दियों के वक्त सबसे ज्यादा ठंड दिसंबर और जनवरी के महीने में पड़ती है. इससे पहले ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के न्यूनतम तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है. सबसे ठंडा क्षेत्र द्रास शहर रहा, यहां का न्यूनतम तापमान माइनस 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जबकि पूरे लद्दाख में तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया गया.

पिछले 24 घंटों में जम्मू-कश्मीर का मौसम शुष्क रहा और अगले 24 घंटों तक भी इसी तरह की स्थिति बनी रहेगी. जम्मू-कश्मीर के शनिवार (12 नवंबर) के मौसम पूर्वानुमान में कहा गया कि 13 से 16 नवंबर के बीच बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है.

गुलमर्ग में भी तापमान कम

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 1.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस समय के लिए सामान्य है. हालांकि पर्यटन स्थल पहलगाम में शनिवार को न्यूनतम तापमान शून्य से 3.7 डिग्री सेल्सियस नीचे और गुलमर्ग में शून्य से चार डिग्री सेल्सियस के नीचे दर्ज किया गया था. इस बीच, कारगिल शहर में न्यूनतम तापमान शून्य से 6.2 डिग्री सेल्सियस के नीचे और लेह में शून्य से 8.8 डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज किया गया.

News Reels

इस साल 20 अक्टूबर को पहाड़ी क्षेत्रों में जल्दी बर्फबारी हुई, जिसकी वजह से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में असामान्य रूप से ठंड की स्थिति पैदा हो गई और लोग जूझ भी रहे हैं. इसी हफ्ते 8 नवंबर को अधिक बर्फबारी दर्ज  की गई, जिसके परिणामस्वरूप पहाड़ी क्षेत्रों में सड़कें बंद हो गईं.

मौसम विभाग का अनुमान

मौसम विभाग  ने  शनिवार के पूर्वानुमान में कहा, “13 और 14 नवंबर को जम्मू और कश्मीर में काफी व्यापक रूप से ऊंचाई वाले इलाकों में हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू और कश्मीर भागों में मुख्य रूप से शुष्क मौसम रहने की संभावना है, जबकि बाद के दो दिनों (13 और 14 नवंबर को हल्की बारिश/बर्फबारी की संभावना है.”

ये भी पढ़ें:Himachal Older Voter: हिमाचल में 112 और 105 वर्षीय बुजुर्ग महिलाओं ने भी डाला वोट, सामने आई तस्वीरें



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *