December 10, 2022


File Pic

File Pic

नई दिल्ली : डायबिटीज (मधुमेह) एक ऐसी बीमारी है। जो तमाम बीमारियों का कारण माना जाता है। हर साल 14 नवंबर को विश्व मधुमेह दिवस (World Diabetes Day) मनाया जाता है। इस दिन को मानाने के पीछे का मुख्य उद्देश्य डायबिटीज (Diabetes) की बीमारी पर नियंत्रण पाने के लिए लोगों को इसके प्रति जागरूक (Aware) करना है। 

14 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है विश्व मधुमेह दिवस?

प्राप्त जानकारी के अनुसार 14 नवंबर को फ्रेडरिक बैटिंग का जन्म हुआ था। फ्रेडरिक बैटिंग ने साल 1922 में चाल्स बैट के साथ मिलकर इंसुलिन का आविष्कार किया था। फ्रेडरिक बैटिंग को सम्मानित करने के उद्देश्य से इस दिन विश्व मधुमेह दिवस मनाया जाता है। 

विश्व मधुमेह दिवस का इतिहास 

लोगों में बढ़ते डायबिटीज और उससे उत्पन्न सेहत संबंधी खतरों का ग्राफ बढ़ता देख विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने साल 1991 में अंतरराष्ट्रीय मधुमेह दिवस (World Diabetes Day) मनाने की घोषणा की थी। 

यह भी पढ़ें

कैसे बचें इस बीमारी से 

आपको बता दें कि इस गंभीर बीमारी से बचने के लिए आपको अपने खानपान के  साथ-साथ, रहन-सहन आदि पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।

  • जिम जाएं या योग करें 
  • अपने वजन को काबू में रखें 
  • अपने रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल स्तर को नियंत्रण में रखें 
  • धुम्रपान और शराब से दूर ही रहें 
  • दिन भर में कम से कम 15 से 20 मिनट तक पैदल चलें 
  • हमेशा ताज़ा खाना ही लें, डिब्बाबंद और फ्रोजन खाने से दूर रहें 
  • हमेशा सक्रिय बने रहें, ज्यादा आराम न करें 

विश्व मधुमेह दिवस पर क्या है इस साल की थीम?

इस साल का थीम ‘एजुकेशन टू प्रोटेक्ट टुमॉरो’ (Education to Protect Tomorrow) है। जिसका मुख्य उद्देश्य PAHO स्वास्थ्य टीम और मधुमेह से पीड़ित लोगों, उनकी देखभाल (Care) करने वालों और सामान्य रूप से समाज दोनों के लिए मधुमेह पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा (Education) तक पहुंच को मजबूत करने की आवश्यकता का आह्वान करता है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *