रिसर्च में सामने आई लिवर कैंसर की भयावह तस्वीर, इस बीमारी से बचना है तो आज से ही अपना लें ये तरीके » Br Breaking News
December 7, 2022
रिसर्च में सामने आई लिवर कैंसर की भयावह तस्वीर, इस बीमारी से बचना है तो आज से ही अपना लें ये तरीके


हाइलाइट्स

रिपोर्ट के मुताबिक 2040 तक लिवर कैंसर से मरने वालों की संख्या में 55 प्रतिशत का इजाफा होगा.
लिवर कैंसर के लिए मुख्य रूप से हेपटाइटिस बी, हेपटाइटिस सी, अल्कोहल का सेवन जिम्मेदार होते हैं

Risk of liver cancer: कैंसर दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारियों में से एक है. कैंसर का नाम सुनते ही लोगों के दिलो-दिमाग में सिहरन पैदा होने लगती है. दुर्भाग्य की बात यह है कि गलत खान-पान और खराब लाइफस्टाइल के कारण दुनिया भर में कैंसर की बीमारी बढ़ती जा रही है. इससे भी चिंता की बात यह है कि कुछ रिसर्च में इस बात की ओर इशारा किया जा रहा है कि युवा आबादी इसकी चपेट में ज्यादा आने वाली है. एक हालिया रिसर्च में कहा गया है कि 1990 के बाद पैदा होने वाली पीढ़ी में कैंसर का जोखिम सभी पीढ़ियों की तुलना में सबसे ज्यादा है. अब एक नई स्टडी आई है जो और ज्यादा भयावह है. जर्नल ऑफ हेपाटोलॉजी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक 2040 तक लिवर कैंसर से मरने वालों की संख्या में 55 प्रतिशत का इजाफा होगा. विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ के मुताबिक 2020 में लिवर कैंसर से दुनिया भर में 8.30 लाख लोगों की मौत हुई. यानी इस आंकड़े के अनुसार 2040 तक हर साल 13 लाख लोग लिवर कैंसर से मरेंगे.

इसे भी पढ़ें- 20 से 30 की उम्र में कर लें सिर्फ ये 5 काम, कभी नहीं होगा कैंसर, जानें टिप्स

किस कारण होता है लिवर कैंसर
हंटडेलीन्यूज के मुताबिक इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर की इसाबेल सोरजोमातरम कहती हैं, “लिवर कैंसर हर साल विश्व स्तर पर बीमारियों का बहुत बड़ा बोझ बनता जा रहा है. लेकिन यदि इस बीमारी से बचाव को प्राथमिकता दी जाए और समय पर इसका निदान किया जाए तो लाखों जिंदगियों को इससे बचाया जा सकता है.” उन्होंने कहा कि लिवर कैंसर के लिए मुख्य रूप से हेपटाइटिस बी, हेपटाइटिस सी, अल्कोहल का सेवन, स्मोकिंग, शरीर का ज्यादा वजन, टाइप 2 डायबिटीज और अन्य मेटाबोलिक कंडीशन जिम्मेदार होती हैं. ऐसे में अगर समय पर इन बीमारियों को होने से रोका जाए तो लिवर कैंसर का जोखिम अपने आप कम हो जाता है.

तो क्या लिवर कैंसर से बचा जा सकता है
अगर सही से प्रयास किए जाए तो लिवर कैंसर को बहुत हद तक रोका जा सकता है. इसके लिए सरकार के साथ-साथ आम लोगों को भी कदम बढ़ाना होगा. अधिकांश मामलों में लिवर कैंसर के लिए हेपटाइटिस बी और हेपटाइटिस सी जिम्मेदार होते है. अच्छी बात यह है कि इन दोनों बीमारियों के लिए वैक्सीन भी आ गई है. वैक्सीन को लगाने से हेपटाइटिस का जोखिम बहुत कम हो जाएगा और इससे लिवर कैंसर नहीं होगा. इसके अलावा संक्रमित नीडिल से अगर किसी दूसरे व्यक्ति को इंजेक्शन लगाया जाता है तो उसे भी हेपटाइटिस हो सकता है. इसलिए इंजेक्शन लगवाते समय इसका खास ध्यान रखें. हेपटाइटिस की बीमारी असुरक्षित यौन संबंध से भी हो सकती है. इस स्थिति में संक्रमित व्यक्ति से यौन संबंध बनाने वाले व्यक्तियों में हेपटाइटिस हो सकता है और इससे गर्भ में पल रहे बच्चे को भी यह बीमारी हो सकती है. इसलिए सुरक्षित यौन संबंध बनाएं.

लिवर कैंसर से बचने के आसान उपाय

  • अल्कोहल और तंबाकू के सेवन का त्याग-अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के मुताबिक लिवर कैंसर से बचने के लिए शराब और तंबाकू का सेवन तुरंत छोड़ देना चाहिए. अल्कोहल के अलावा सिगरेट भी नहीं पीनी चाहिए.
  • वजन को मैंटेन रखें-लिवर कैंसर के लिए वजन भी जिम्मेदार हो सकता है. इसलिए वजन को मैंटेन रखें. हेल्दी डाइट लें. सैचुरेटेड और प्रोसेस्ड फूड का त्याग कर दें.
  • कैंसर कारक केमिकल से दूर रहें-कुछ केमिकल कैंसर के कारक होते हैं. जैसे अनाज में देने वाले केमिकल, कीटनाशक, एफलाटॉक्सिन आदि. इन केमिकल से हमेशा दूरी बनाए रखें.
  • कैंसर के लिए जिम्मेदार बीमारी का इलाज कराएं-हेपटाइटिस, टाइप 2 डायबिटीज आदि जिम्मेदार हो सकते हैं. इन बीमारियों का समय पर इलाज कराएं.

Tags: Cancer, Health, Health tips, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *