November 28, 2022
रिंगवॉर्म की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं यह 5 घरेलू उपचार


हाइलाइट्स

रिंगवॉर्म शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है.
कमर के निचले हिस्से पर हो जाता है तो जॉक ईच कहते हैं.
अलग-अलग हिस्सों के कारण रिंगवॉर्म अलग-अलग नामों से जाना जाता है.

Remedies for Ringworm: रिंगवॉर्म किसी भी प्रकार के बैक्टीरिया या किसी भी कीड़े के काटने के कारण नहीं होता है. यह त्वचा की एक ऐसी बीमारी है, जो टिबिया नाम के फंगस के कारण होती है. यह फंगस त्वचा के डेड टिशू में रहता है. रिंगवॉर्म त्वचा पर लाल रंग का दाग होता है और पपड़ीदार खुजली के कारण बनता है. समय के साथ यह एक गोल आकार ले लेता है, इसलिए इसे रिंगवॉर्म कहते हैं. यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है. अलग-अलग हिस्सों के कारण इसे अलग-अलग नामों से जाना जाता है. अगर यह कमर के निचले हिस्से पर हो जाता है तो जॉक ईच कहते हैं.‌ अगर यह पैरो की उंगलियों में होता है तो इसे एथलीट फुट कहा जाता है, लेकिन कुछ घरेलू उपचारों से इसे ठीक किया जा सकता है.

जैतून का तेल
हेल्थलाइन के अनुसार, यह तेल रिंगवॉर्म के इलाज में मदद करता है, लेकिन इसका उपयोग करने से पहले यह जान लेना चाहिए कि इससे शरीर में कोई एलर्जी तो नहीं है. जैतून के तेल को रिंगवॉर्म पर सीधा लगाने से यह उसे ठीक करने में मदद मिलती है.

इसे भी पढ़ें: एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर पपीता बालों और त्वचा के लिए कैसे है फायदेमंद, जानिए यहां

साबुन और पानी
रिंगवॉर्म वाली जगह को जितना हो सके उतना साफ रखना चाहिए, क्योंकि यह त्वचा से त्वचा पर फैलने वाली बीमारी है. इसको रोकने के लिए हर रोज रिंगवॉर्म वाली जगह को साबुन और पानी से अच्छी तरह से साफ़ कर लें. साथ ही धोने के बाद उस जगह को अच्छी तरह से सुखा लें, क्योंकि नमी वाली जगह में फंगस जल्दी फैलती है. 

सेब का सिरका
सेब के सिरके में एंटीफंगस गुण होते हैं, जो त्वचा पर रिंगवॉर्म को फैलने से रोकने में मदद कर सकते हैं. इसका उपयोग रुई को सेब के सिरके में भिगोकर रिंगवॉर्म वाली जगह पर लगा कर किया जा सकता है.

टी ट्री ऑयल
टी ट्री ऑयल का उपयोग एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल रेमेडी के रूप में किया जाता है. इस तेल में एंटीफंगस गुण पाए जाते हैं, जो रिंगवॉर्म को फैलने से रोकने में मदद कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: जानें क्या है डीप ब्लैकहेड्स और इन्हें हटाने के सुरक्षित तरीके

नारियल का तेल
नारियल के तेल में एंटीफंगस और माइक्रोबियल दोनों गुण पाए जाते हैं, जो रिंगवॉर्म के फैलने को रोकने में मदद कर सकते हैं.

Tags: Health, Lifestyle, Lumpy Skin Disease, Skin care



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *