December 9, 2022
मसालेदार खाना प्रेग्नेंसी के दौरान सुरक्षित है या नहीं, जानें


हाइलाइट्स

बच्चे के विकास के लिए स्पाइसी फूड बिल्कुल भी हानिकारक नहीं.
एलडीएल यानी हृदय के लिए हानिकारक कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है.

Spicy Food And Pregnancy – प्रेग्नेंसी के दौरान आपकी खान पान की आदतें काफी बदल जाती हैं और आपका मन भी काफी अटपटी चीजें खाने का करने लगता है. हो सकता है आप बाकी दिन सादा भोजन खाना पसंद करती हों लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान आपको काफी मसालेदार खाना खाने का मन करने लगता हो. लेकिन यह समय काफी रिस्की होता है और अगर आप इस समय कुछ भी अलग चीजों का सेवन करने की सोचती हैं तो सबसे पहला ख्याल यही आता है कि क्या यह आपके लिए सुरक्षित है या नहीं क्योंकि यह समय काफी रिस्की होता है और किसी भी चीज से आपको या आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है. आइए जानते हैं मसालेदार खाना खाने से आपको कोई रिस्क तो नहीं होगा.

क्या तीखा और मसालेदार खाना आपके लिए सुरक्षित है?
वेरी वेल फैमिली के अनुसार इस समय तीखा या फिर मसालेदार खाना खा सकती हैं. यह खाने से आपको या बच्चे को किसी तरह का कोई रिस्क नहीं होगा. हर महिला का शरीर अलग-अलग होता है और हो सकता है तीखे खाने से आपका शरीर अलग तरह से रिएक्ट करे. अगर आपको पाचन से जुड़ी कोई समस्या होती है या स्पाइसी खाने को लेकर कोई भी परेशानी होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं और आगे से ऐसा खाना खाना अवॉइड ही करें. हालांकि आपको तीखे खाने से अन कंफर्टेबल महसूस हो, यह काफी कम केसों में ही देखने को मिलता है लेकिन फिर भी आपको रिस्क नहीं लेना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: डाइजेशन को सुधारने के साथ बीपी को भी कंट्रोल रखता है लोबिया

क्या यह बच्चे के लिए सुरक्षित है
बच्चे के विकास के लिए स्पाइसी फूड बिल्कुल भी हानिकारक नहीं है. अगर आपके स्वाद में या फिर पाचन में मसालेदार खाने से कोई दिक्कत आती है तो आप इसे अवॉयड कर सकती हैं. लेकिन बच्चे या फिर अपनी सेहत को लेकर किसी तरह की चिंता न करें.

प्रेग्नेंसी के दौरान मसालेदार खाना खाने से क्या लाभ मिल सकते हैं
बच्चे को नए स्वाद का पता चलता है
ऐसा खाना खाने से भविष्य में लाभ मिलते हैं जैसे बच्चे को नए स्वाद के बारे में पता चलेगा और वह मसालेदार चीजों से दिक्कत नहीं होगी और वह हर चीज खाने की पहल करने लगेंगे. बच्चे को नए नए तरह के फ्लेवर का पता चलेगा.

दिल का स्वास्थ्य
मसालेदार खाने का सेवन करने से हृदय के लिए जरूरी एचडीएल यानी शरीर के लिए लाभदायक कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ता है और एलडीएल यानी हृदय के लिए हानिकारक कोलेस्ट्रॉल लेवल कम होता है. ऐसा होने से आपका दिल के रोगों और स्ट्रोक का रिस्क भी कम होता है.

सुरक्षा के लिए पालन करें यह नियम
वैसे तो मसालेदार खाने से आपको कोई रिस्क नहीं है लेकिन फिर भी कुछ पाचन से जुड़ी समस्याएं आपको देखने को मिल सकती हैं और अगर निम्न लक्षण देखने को मिलते हैं तो इनका सेवन करने से बचें.

हार्ट बर्न
यह प्रेग्नेंसी का एक आम लक्षण है. अगर आपको सीने में जलन होती है तो तीखे खाने का सेवन वैसे भी न करें या फिर काफी कम ही करें.

इसे भी पढ़ें: शुगर कंट्रोल करने में ‘रामबाण’ है मेथी दाना, औषधीय गुणों से भरपूर इस मसाले का जानें रोचक इतिहास

अपच
अगर आपको इस तरह का खाना ढंग से नहीं पच पाता है तो भी इसका सेवन करने से बचें. मसालेदार फूड का मन हर महिला का करता है और इसे आप खा भी सकती हैं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इस खाने में ज्यादा मसाला न हो और ज्यादा तेल आदि भी शामिल न हो. इसके अलावा कभी कभार ही इसका सेवन करें.

Tags: Healthy Diet, Lifestyle, Pregnancy



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *