November 28, 2022
बदलते मौसम में बढ़ जाता है वायरल फीवर का खतरा, जानिए बुखार में क्या खाएं और क्या नहीं


हाइलाइट्स

वायरल फीवर में हरी पत्तेदार सब्जियों और सूप का सेवन करें.
वायरल फीवर में बॉडी को हाइड्रेटेड रखना बेहद जरूरी होता है.
वायरल फीवर में कैफिनेटेड ड्रिंक्स का सेवन करने से बचें.

Foods to eat and avoid in Viral Fever : बदलते मौसम के कारण अक्सर बुखार, सर्दी-जुकाम, सिर दर्द और बदन दर्द की समस्या होना आम बात है. मौसम के अलावा वायरल फीवर अनहेल्दी खाने और दूषित पानी में मौजूद बैक्टीरिया और वायरस के कारण भी इंफेक्शन फैला सकता है. वायरल फीवर के कई सामान्य लक्षण होते हैं, जैसे तेज बुखार, उल्टियां, सिर दर्द, बदन दर्द, कमजोरी और हर समय की थकान. वायरल फीवर कोई गंभीर बीमारी नही है लेकिन इससे बॉडी को पूरी तरह रिकवर होने में कम से कम एक हफ्ता या उससे कुछ ज्यादा समय भी लग सकता है.

वायरल फीवर में लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए क्योंकि ये बुखार बढ़कर डेंगू और मलेरिया का रूप ले सकता है. वायरल फीवर में स्पीड रिकवरी के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है अपनी डाइट का ख्याल रखना ताकि बॉडी का इम्यून सिस्टम स्ट्रांग रहे और उसे बीमारियों से लड़ने की ताकत मिले. आइए जानते हैं, वायरल फीवर में कैसे रखें डाइट का ख्याल.

वायरल फीवर में लाभदायक फूड्स 

डेयरी प्रोडक्ट्स :
ऑनली माय हेल्थ डॉट कॉम के मुताबिक वायरल फीवर के दौरान डेयरी प्रोडक्ट्स काफी फायदेमंद होते हैं, जिससे बॉडी को मिनिरल्स,कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिंस की अच्छी मात्रा प्राप्त होती है.

हरी पत्तेदार सब्जियां :
हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, केल और सरसों कई पोषक तत्वों से भरपूर होती है, जो वायरल फीवर जैसी मौसमी बीमारियों से लड़ने में सहायक होती हैं.
नट्स :
नट्स मे हेल्दी फैट्स के साथ प्रोटीन, सेलेनियम, विटामिन ए और विटामिन ई जैसे कई पोषक तत्त्व मौजूद होते हैं, जो बॉडी को एनर्जी देने के साथ बिमारियों से बचाव करते हैं.
सूप :
सूप विटामिन, मिनिरल्स और प्रोटीन का बेहतरीन सोर्स होते हैं, जो मरीज को लंबे समय तक हाइड्रेटेड रहने में मदद करते हैं. सूप एक लाइट फूड है जिसे डाइजेस्ट करना आसान होता है.
वायरल फीवर में करें इन फूड्स से परहेज :
शुगरी फूड्स :
वायरल फीवर में शुगरी फूड्स और ड्रिंक्स इम्यून सिस्टम को प्रभावित कर सकते हैं इसीलिए इनसे परहेज करना चाहिए.
कैफीनेटेड ड्रिंक्स और एल्कोहल :
फीवर में हाई टेंपरेचर के कारण डिहाइड्रेशन की समस्या बढ़ जाती है, ऐसे में ये ड्रिंक्स इस समस्या को बढ़ा सकती हैं. इसीलिए फीवर में ऐसे ड्रिंक्स के बजाय पानी, नींबू पानी, जूस और कोकोनट वॉटर का सेवन करें.

इसे भी पढ़ें: पेट दर्द में बड़े काम आएंगे ये घरेलू उपचार, जल्द मिलेगा फायदा

इसे भी पढ़ें: खाने के बाद पेट में जलन और दर्द से रहते हैं परेशान, तो ये उपाय अपनाएं

Tags: Health, Healthy Foods, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *