November 28, 2022
पनीर फायदे ही नहीं सेहत को पहुंचा सकता है कुछ नुकसान भी, दिखते हैं ये साइड एफेक्ट्स


हाइलाइट्स

रात को सोते समय पनीर का सेवन नहीं करना चाहिए.
प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने पर दस्त की समस्या हो सकती है.

Risks of Eating Paneer: पनीर का सेवन शाकाहारी परिवारों में काफी ज्यादा किया जाता है. पनीर दूध से बना होता है. पनीर का उपयोग बहुत सारे व्यंजन बनाने के लिए किया जा सकता है. पनीर को किसी भी समय सुबह नाश्ते से लेकर रात डिनर तक कभी भी खा सकते हैं. पनीर में भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है. इसका नाम सुनते ही लोगों के मुंह में पानी आ जाता है. पनीर वेजिटेरियन और नॉनवेजिटेरियन दोनों तरह के लोगों की पसंद होती है. पनीर में प्रोटिन के साथ-साथ कैल्शियम, फॉस्फोरस, सेलेनियम, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं. यह हमारी हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है, लेकिन आप यह जानकर हैरान होंगे कि पनीर का सेवन करने से शरीर को नुकसान भी पहुंच सकता है. कच्चा पनीर कोलस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ा सकता है. अक्सर ये समस्याएं पनीर की मात्रा ज्यादा होने के कारण होती हैं. आइए जानें पनीर से होने वाले नुकसान क्या हैं.

पनीर अधिक खाने के नुकसान

दस्त की समस्या हो सकती है
हमारे शरीर में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने पर दस्त की समस्या हो सकती है. पनीर प्रोटीन का अच्छा स्रोत है. ज्यादा पनीर के खाने से हमारे शरीर में प्रोटीन बढ़ सकता है, इसलिए पनीर का ज्यादा सेवन एक ही बार में नहीं करना चाहिए.

ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है
अगर आप ब्लड प्रेशर के रोगी हैं तो आपको पनीर का सेवन नहीं करना चाहिए. वैसे तो पनीर हमारी सेहत के लिए उपयोगी होता है, लेकिन पनीर का ज्यादा सेवन करने से यह ब्लड प्रेशर को बढ़ाने का काम करता है.



इन्फेक्शन हो सकता है
कुछ लोग ज्यादा प्रोटीन पाने के चक्कर में कच्चा पनीर खाना पसंद करते हैं, लेकिन ज्यादा कच्चे पनीर का सेवन करने से शरीर में इंफेक्शन हो सकता है.

पाचन खराब हो सकता है
रात को सोते समय पनीर का सेवन नहीं करना चाहिए. अगर आपको पाचन, कब्ज, एसिडिटी से संबंधित समस्याएं हैं तो आपको ज्यादा पनीर का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि ज्यादा पनीर का सेवन करने से एसिडिटी और कई बार कब्ज भी हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः ज्यादा तनाव की वजह से घट सकता है वजन? रिसर्च में सामने आया कनेक्शन

यह भी पढ़ेंः यूरिक एसिड बढ़ने से किडनी फेलियर का खतरा, जानें इसे कंट्रोल करने का तरीका

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Health, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *