ज्यादा कार्ब्‍स का सेवन करने पर बॉडी देती है संकेत, इस तरह पहचानें » Br Breaking News
December 7, 2022
ज्यादा कार्ब्‍स का सेवन करने पर बॉडी देती है संकेत, इस तरह पहचानें


हाइलाइट्स

बॉडी को फिट रखने के लिए कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स का करें सेवन.
चीनी का सेवन कम करके बॉडी को हेल्‍दी रखा जा सकता है.
बॉडी को एनर्जी देने के लिए कार्बोहाइड्रेट का सेवन जरूरी होता है.

Signs Of Consuming More Carb – वेट लॉस और फिटनेस के लिए लोग कार्ब्‍स यानी कार्बोहाइड्रेट्स को डाइट से कट कर देते हैं लेकिन बता दें कि कार्ब्‍स बॉडी को एनर्जी देने का काम करते हैं. बॉडी को पोषित करने के लिए जितने जरूरी अन्‍य न्‍यूट्रिएंट्स होते हैं उतना ही अहम है कार्बोहाइड्रेट. जहां एक ओर कार्बोहाइड्रेट बॉडी के लिए आवश्‍यक माना जाता है वहीं दूसरी ओर इसका अधिक सेवन बीमारियों को बढ़ा सकता है. जिन पोषक तत्‍वों से दूर रहना चाहिए उनमें से एक है कार्बोहाइड्रेट. कार्ब्‍स बॉडी का दुश्‍मन नहीं है लेकिन ये जानना जरूरी है कि हम किस प्रकार के कार्ब्‍स का सेवन कर रहे हैं और कितनी मात्रा में कंज्‍यूम कर रहे हैं. अधिक कार्ब्‍स का सेवन बॉडी को नुकसान पहुंचा सकता है. अब सवाल से उठता है कि अधिक कार्ब्‍स का सेवन करने से बॉडी क्‍या संकेत देती है और हेल्‍दी रहने के लिए कितनी मात्रा में कार्ब्‍स का सेवन किया जाना चाहिए. चलिए जानते हैं इसके बारे में.

क्‍या हैं कार्ब्‍स
कार्ब्‍स दो प्रकार के होते हैं सिंपल और कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स. सिंपल कार्ब्स है चीनी और कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स होते हैं स्‍टार्च और फाइबर. हेल्‍थ शॉट्स के अनुसार बॉडी को एनर्जी के लिए सिंपल कार्ब्‍स की अपेक्षा कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स की आवश्‍यकता होती है. सिंपल कार्ब्‍स शुगर होती है जो शरीर में अन्‍य समस्‍याएं बढ़ा सकती है. हेल्‍दी कार्ब्‍स खाने से बॉडी पर नकारात्‍मक प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन सिंपल कार्ब्‍स का अधिक सेवन बॉडी को कई समस्‍याओं का संकेत दे सकता है.

क्‍या हैं हेल्‍दी कार्ब्‍स
प्रत्‍येक फूड सोर्स में विभिन्‍न प्रकार के कार्ब्‍स होते हैं. इसलिए बॉडी को उन कार्ब्‍स का चुनाव करना चाहिए जो उसे फायदा पहुंचा सकें. हर तरह के कार्बोहाइड्रेट में एनर्जी देने के लिए अलग-अलग मॉलिक्‍यूल होते हैं. बॉडी की जरूरत के अनुसार इसका चुनाव करना चाहिए. जैसे वजन घटाने और डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स का सेवन करना चाहिए. कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स में साबुत अनाज, फल, सब्जियां, रोटी और राइस को शामिल किया जा सकता है.

यह भी पढ़ेंः Lyme Disease की दुनियाभर में क्यों हो रही चर्चा? जानें इस बीमारी की वजह

एक दिन में कितना कार्ब्‍स है जरूरी
कार्ब्‍स का सेवन व्‍यक्ति की पसंद के अनुसार होता है क्‍योंकि प्रत्‍येक व्‍यक्ति की बॉडी नीड अलग-अलग होती है. ये बॉडी मास इंडेक्‍स पर आधारित होता है. ये व्‍यक्ति के बीएमआई, बीएमआर, फिजिकल एक्टिविटी और ईटिंग हैबिट पर निर्भर करता है. सामान्‍यतौर पर एनर्जी के लिए बॉडी को 55 से 60 प्रतिशत तक कॉम्‍पलेक्‍स कार्ब्‍स की आवश्‍यकता होती है. एक व्‍यक्ति को 7-9 ग्राम प्रति किलोग्राम बॉडी वेट के अनुसार कार्बोहाइड्रेट की आवश्‍यकता होती है.

यह भी पढ़ेंः फिट और तंदुरुस्त सेलिब्रिटीज क्यों हो रहे हार्ट अटैक का शिकार?

अधिक कार्ब्‍स खाने से बॉडी देती है ये संकेत
– वेट गेन
– हाई ब्‍लड शुगर
– बेहोशी
– हाई कोलेस्‍ट्रॉल
– हाई सीरम इंसुलिन
– स्किन प्रॉब्‍लम्‍स
– मीठा खाने की क्रेविंग
– कब्‍ज और गैस
– डाइजेस्टिव सिस्‍टम में समस्‍या

Tags: Food, Health, Health problems, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *