क्या ज्यादा पसीना आना हो सकता है डायबिटीज का संकेत? जानकर नहीं कर पाएंगे यकीन » Br Breaking News
December 9, 2022
क्या ज्यादा पसीना आना हो सकता है डायबिटीज का संकेत? जानकर नहीं कर पाएंगे यकीन


हाइलाइट्स

हार्ट डिजीज में भी आ सकता है जरूरत से ज्‍यादा पसीना.
पसीना आने की वजह थकान और कमजोरी भी हो सकती है.

Causes Of Excessive Sweating: माना जाता है कि पसीना आना सेहत के लिए अच्‍छा होता है. पसीना आने से बॉडी के विषैले टॉक्सिन्‍स को बाहर निकलने में मदद मिलती है. जिम, एक्‍सरसाइज, कुकिंग, रनिंग या किसी भी फिजिकल एक्टिविटी के दौरान पसीना आना सामान्‍य है लेकिन जब एसी और फैन में रहने के बावजूद ज्‍यादा पसीना आए तो समझिए किसी बीमारी का संकेत है. ज्‍यादा पसीना आना डायबिटीज के लक्षण भी हो सकते हैं. ब्‍लड शुगर लेवल के बढ़ जाने या कम हो जाने पर ठंडा पसीना आ सकता है. पसीना आने पर कई लोग ध्‍यान नहीं देते लेकिन ये किसी बड़ी बीमारी की शुरुआत हो सकती है. डायबिटीज के अलावा अन्‍य हेल्‍थ प्रॉब्‍लम की वजह से भी अधिक‍ पसीना आ सकता है. चलिए जानते हैं किन कारणों की वजह से आता है अधिक पसीना.

हो सकती है हार्ट प्रॉब्‍लम
जरूरत से ज्‍यादा पसीना आना हार्ट प्रॉब्‍लम की ओर भी इशारा करता है. हेल्‍थलाइन के अनुसार यदि किसी को बिना किसी फिजिकल एक्टिविटी के पसीना आता है तो इसके पीछ हार्ट प्रॉब्‍लम भी हो सकती है. ब्‍लॉक आर्टरीज की वजह से ब्‍लड को सर्कुलेट करने के लिए हार्ट को अधिक मेहनत करनी पड़ती है जिस वजह से शरीर को अधिक थकान और तनाव हो सकता है. इसी तनाव की वजह से अधिक पसीना आ सकता है.

कैंसर हो सकती है इसकी वजह
कैंसर होने पर शरीर में कई तरह के बदलाव आते हैं. जिसमें से एक बदलाव है अधिक पसीना आना. कैंसर की स्थिति में शरीर के कई ऑर्गेन सही ढंग से काम नहीं कर पाते जिस वजह से शरीर को काम करने के लिए काफी एफर्ट लगाना पड़ता है. इसके साथ ही कैंसर होने पर अधिक गर्मी का अहसास होता है. हार्ट बीट भी काफी तेज हो जाती है जिस वजह से अधिक पसीना आ सकता है.

दवाइयों का साइड इफेक्‍ट
कई बार दवाइयों के अधिक सेवन से भी ज्‍यादा पसीना आने की समस्‍या हो सकती है. दवाइयों में मौजूद कंपाउंड शरीर में गर्मी पैदा करते हैं. जिस वजह से घबराहट और बैचेनी जैसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है. जो लोग स्‍टेरॉयड का सेवन करते हैं उन्‍हें दवाईयों से साइड इफेक्‍ट हो सकता है जो पसीना का कारण हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः क्या दुबले-पतले लोगों को Type 4 Diabetes का ज्यादा खतरा? 

मेनोपॉज की समस्‍या
महिलाओं को अधिक पसीने का कारण मेनोपॉज भी हो स‍कता है. मेनोपॉज होने से महिलाओं के शरीर में कई तरह के हार्मोनल चेंजेज आते हैं जिससे अधिक पसीना आना, सिरदर्द, चक्‍कर और वजन बढ़ना जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं.

यह भी पढ़ेंः इस ब्लड ग्रुप वाले लोगों को स्ट्रोक का खतरा ज्यादा ! स्टडी में हुआ खुलासा

बढ़ता या कम होता शुगर लेवल
कई मामलों में अधिक पसीना आने का संबंध डायबिटीज से हो सकता है. शरीर का बढ़ता या कम होता ब्‍लड शुगर लेवल जरूरत से ज्‍यादा पसीना आने का कारण हो सकता है. शुगर लेवल के बढ़ने से हार्ट बीट तेज हो सकती है जिस वजह से पसीना आ सकता है. वहीं शुगर लेवल के कम होने पर हाथ-पैरों में झुनझुनी और ठंडा पसीना आ सकता है.

Tags: Diabetes, Health, Heart Disease, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *