कील-मुंहासों का गर्भनिरोधक गोलियों से हो रहा है इलाज, जादू की तरह काम करती है ये दवा &Raquo; Br Breaking News
November 29, 2022
कील-मुंहासों का गर्भनिरोधक गोलियों से हो रहा है इलाज, जादू की तरह काम करती है ये दवा


हाइलाइट्स

जब खून में एंड्रोजन ज्यादा होने लगता है तो चेहरे पर कील-मुंहासे निकलने लगते हैं.
जब महिलाओं में ऑव्यूलेशन होता है तब स्किन ग्लो करने लगता है

Birth control pills : युवावस्था में लड़कियां अपने चेहरे को लेकर बेहद चोकन्ना रहती हैं. इसके बावजूद हार्मोनल परिवर्तन और उनकी कुछ गलतियां की वजह से चेहरे पर कील-मुंहासे निकल आते हैं. अधिकांश लड़कियां इनसे बहुत ज्यादा परेशान रहती हैं. टीनएज के लड़के भी कील-मुंहासों के कारण शर्मिंदगी महसूस करते हैं. अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो अब चिंता करने की कोई बात नहीं क्योंकि चेहरे से कील-मुंहासों को हटाने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां जादू की तरह काम करने लगी है. परंपरागत रूप से गर्भावस्था को रोकने और महिलाओं के जीवन को आसान बनाने में गर्भनिरोधक गोलियां की बेमिशाल भूमिका है. लेकिन अब धड़ल्ले से इस दवा का इस्तेमाल चेहरे से एक्ने को हटाने के लिए किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- हार्ट की बीमारी से दूर रहने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके, हमेशा रहेगी हेल्दी

किस तरह काम करती है गर्भनिरोधक गोलियां
वॉग मैगजीन में छपी खबर में स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ अमेया कनाकिया कहती हैं गर्भनिरोध गोलियां कैसे काम करती है, इसे समझने के लिए हमें यह जानना जरूरी है कि महिलाओं में पीरियड्स के लिए हार्मोन किस तरह जिम्मेदार होते हैं. ब्रेन में स्थित पिट्यूटरी ग्लैंड से निकला हार्मोन अंडाशय को अंडा बनाने के लिए सिग्नल देता है. इस अंडे से एस्ट्रोजेन हार्मोन रिलीज होता है. इससे गर्भावस्था की तैयारी होती है. इस अविध में अगर गर्भ नहीं होता तो हार्मोन का स्तर गिर जाता है. हार्मोन का यह सिस्टम महिलाओं की स्किन को बेहद प्रभावित करता है. जब महिलाओं में ऑव्यूलेशन होता है तब स्किन ग्लो करने लगता है लेकिन पीरियड्स से कुछ पहले चेहरा मुरझाने लगता है. इसमें एस्ट्रोजन हार्मोन का हाथ होता है. दरअसल, जब गर्भनिरोधक गोली ली जाती है, तो यह ओव्यूलेशन को रोकने के लिए हार्मोन ही होते हैं. गर्भनिरोधक गोली में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन दोनों हार्मोन होते हैं. इसलिए जब इन हार्मोनों की निरंतर आपूर्ति होती है, तो मस्तिष्क से अंडाशय में अंडे विकसित करने के संकेत बंद हो जाते हैं. इस प्रकार गर्भनिरोधक गोलियां ओव्यूलेशन को रोक देती है. इससे स्किन पर ग्लो बना रहता है और कील-मुंहासे की समस्या से निजात मिल जाती है.

मुंहासे क्यों होते हैं
डॉ कनाकिया के मुताबिक महिलाओं के शरीर में मेल हार्मोन भी कुछ मात्रा में होता है. इसे एंड्रोजन कहा जाता है. लेकिन जब यह ज्यादा होने लगता है कि चेहरे पर कील-मुंहासे होने लगते हैं. कुछ महिलाओं में चेहरे पर बाल भी उगने लगते हैं. बर्थ कंट्रोल पिल एंड्रोजन हार्मोन के स्तर को एकदम कम कर देती है जिससे स्किन पर कील-मुंहासे भी नहीं आते और बाल भी नहीं उगते. यही कारण आजकल चेहरे से कील-मुंहासे हटाने के लिए लड़कियां गर्भनिरोधक गोलियों का इस्तेमाल करने लगी है. हालांकि बिना डॉक्टरों की सलाह से इसे नहीं लेनी चाहिए क्योंकि यह जांच से पता चलेगा कि खून में एंड्रोजन हार्मोन का स्तर कम है या ज्यादा. जांच के बाद डॉक्टर तय करते हैं कि एक्ने को दूर करने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां दी जाए या नहीं.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *