किशोरावस्था की मुश्किल घड़ी है असंतुलित हार्मोन, जानिए लक्षण और उपचार » Br Breaking News
December 9, 2022
किशोरावस्था की मुश्किल घड़ी है असंतुलित हार्मोन, जानिए लक्षण और उपचार


हाइलाइट्स

रात में नींद कम आना या फिर इनसोम्निया हो जाना.
लड़कियों में मासिक धर्म से संबंधित समस्याएं आना.
लक्षण के आधार पर दवाइयों से भी हो सकता है उपचार.

Teenage Hormones Disbalance: किशोरावस्था वह समय होता है, जब शारीरिक बदलाव आने लगते हैं. टीनएज लड़कियों में मासिक धर्म भी शुरू हो जाता है. इस समय बच्चों के खराब लाइफस्टाइल या खराब खान-पान के ढंग से उन्हें काफी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. सबसे बड़ी मुश्किल होती है हार्मोनल असंतुलन होना. आपकी छोटी सी गलती की वजह से भी यह दिक्कत काफी बड़ी बन सकती है. इससे पीरियड्स लेट आना और बाकी समस्याएं पैदा हो सकती हैं, इसलिए इस समस्या के शुरुआती दौर से ही इसका इलाज करना बेहद ज़रूरी है. आइए जानते हैं हार्मोनल असंतुलन के क्या हैं लक्षण और कैसे किया जा सकता है इसका इलाज.

क्या हैं हार्मोनल असंतुलन के लक्षण
कोयलीइंस्टिच्यूट डॉट कॉम के मुताबिक, ठंड और गर्म से ज्यादा सेंसिटिव होना.
-कब्ज होना या जल्दी-जल्दी बाथरूम जाना.
-स्किन का काफी ड्राई हो जाना.
-मुंह का सूजना.
-बिना कारण के वजन का बढ़ना या फिर ज्यादा कम हो जाना.
-मसल्स में कमजोरी आना.
-ज्यादा प्यास लगना.
-रात में नींद कम आना या फिर इनसोम्निया हो जाना.
-लड़कियों में मासिक धर्म से संबंधित समस्याएं आना जैसे पीरियड्स लेट होना या फ्लो में बदलाव होना आदि.



क्या है हार्मोनल असंतुलन का इलाज
इलाज इस बात पर निर्भर करता है कि आपके कौन से हार्मोन में असंतुलन पैदा हुआ है और आपको इस कारण कौन-कौन से लक्षण दिखाई दे रहे हैं. कई बार अगर दिक्कत कम हो तो बिना दवाइयों के केवल लाइफस्टाइल में सुधार करने और खान पान सुधारने में ही आराम हो जाता है. अगर ज्यादा असंतुलन हो जाता है तो कुछ केसों में डॉक्टर आपको कुछ दवाई और सप्लीमेंट्स का सेवन करने को भी बोल सकते हैं.
इसे भी पढ़ेंः घर में लगाएं ये खास औषधीय पौधे, कई बीमारियों से रहेंगे दूर

इसे भी पढ़ेंः जानें चाय को बार-बार गर्म करके क्यों नहीं पीना चाहिए? क्या है इसके पीछे का कारण

Tags: Health, Lifestyle, Parenting tips



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *