आपके बच्चे को है डायबिटीज तो कैसे यूज करें इंसुलिन पंप, जानें यहां » Br Breaking News
December 9, 2022
आपके बच्चे को है डायबिटीज तो कैसे यूज करें इंसुलिन पंप, जानें यहां


हाइलाइट्स

इंसुलिन पंप का प्रयोग किसी भी उम्र के व्‍यक्ति कर सकते हैं.
पंप का प्रयोग करने से पहले हाइजीन का ध्‍यान रखना ज़रूरी है.

How to use insulin pump for children:  डायबिटीज के बढ़ते मामलों में अब बड़ों के साथ बच्‍चों की संख्‍या में भी इजाफा हुआ है. बच्‍चों को होने वाली डायबिटीज को जुवेनाइल डायबिटीज मेलिट्स के नाम से भी जाना जाता है, जिसमें बच्‍चों को इंसुलिन लेने की आवश्‍यकता पड़ती है. जब किसी व्‍यक्ति को टाइप-1 डायबिटीज होती है तो उसके शरीर का इम्‍यून सिस्‍टम पैनक्रियाज में बनने वाले इंसुलिन सेल्‍स को डिस्‍ट्रॉय कर देता है. लो इंसुलिन की वजह से ब्‍लड शुगर लेवल बढ़ जाता है. यही वजह है कि व्‍यक्ति को ऊपर से इंसुलिन लेनी पड़ जाती है. बच्‍चों के लिए इंसुलिन लेना एक जटिल प्रक्रिया है. बच्‍चों और बड़ों की इस समस्‍या को कम करने के लिए इन दिनों इंसुलिन पंप का प्रयोग किया जा रहा है. इंसुलिन पंप का प्रयोग ग्‍लूकोज को नियंत्रण करने के साथ लाइफस्‍टाइल में सुधार करने में भी मदद कर सकता है. चलिए जानते हैं बच्‍चों के लिए कैसे इंसुलिन पंप का प्रयोग कर सकते हैं.

कैसे काम करता है इंसुलिन पंप
इंसुलिन पंप एक ऐसा उपकरण है, जो शरीर में मौजूद पैनक्रियाज की नकल करता है. हेल्‍‍थ शॉट्स के अनुसार , ब्‍लड शुगर लेवल में परिवर्तन होने पर पैनक्रियाज इंसुलिन छोड़ता है, लेकिन डायबिटीज पेशेंट्स के शरीर में ये प्रक्रिया न के बराबर होती है. यही कारण है कि इंसुलिन पंप डायबिटीज पेशेंट्स को आवश्‍यक इंसुलिन प्राप्‍त करने में मदद करता है, ताकि उनका शरीर ग्‍लूकोज को एनर्जी में त‍बदील कर सके. एक ट्यूब के माध्‍यम से इंसुलिन की मात्रा को शरीर में पहुंचाया जाता है, जिसे कैनुला कहा जाता है. हर व्‍यक्ति की इंसुलिन की मात्रा अलग-अलग होती है. ये प्रत्‍येक पेशेंट्स को अलग तरह से प्रभावित करता है.

बच्‍चों के लिए कैसे प्रयोग करें इंसुलिन पंप सीधे संपर्क से बचें
बच्‍चों के लिए इंसुलिन पंप का प्रयोग करने से पहले ये ध्‍यान रखें कि इंसुलिन पंप के बटन शरीर के सीधे संपर्क में न हों ताकि शरीर की नमी उन पर न चिपके. सुविधा के लिए डिवाइस को बेल्‍ट पर क्लिप किया जा सकता है.

सही से जुड़ा हुआ हो
पंप लगाने से पहले सुनिश्चित करें कि इंसुलिन पंप सही से जुड़ा हुआ हो. पंप को बार-बार लगाने और हटाने से वे जल्‍दी खराब हो सकते हैं. साथ ही शरीर को इसका पूरा फायदा नहीं मिल पाएगा. पंप को लगाने से पहले सभी इंस्‍ट्रक्‍शन को ध्‍यानपूर्वक पढ़ें फिर इस्‍तेमाल करें.

Childhood Depression: आपका बच्चा हो सकता है डिप्रेशन का शिकार! इन लक्षणों को बिल्कुल भी न करें नजरअंदाज

हाइजीन बनाए रखें
इंसुलिन पंप को संभालने से पहले हाथों को साफ करें और हाथों में लगे लोशन, सनस्‍क्रीन और क्रीम को पूरी तरह से हटा दें. ऐसे ही पंप का उपयोग करने के बाद हाथों को फिर से धोएं.

डायबिटीज से हैं परेशान तो खाना शुरू करें मखाना, शुगर लेवल कंट्रोल रखने के लिए डाइट प्लान में करें शामिल

पंप को साफ करें
पंप को साफ करने के लिए माइल्‍ड डिटर्जेंट और पानी का इस्‍तेमाल करें. पंप को बहते पानी के नीचे न रखें और न ही इसे किसी लिक्विड में डुबोएं. इसे साफ करने के लिए ग्‍लास क्‍लीनर का भी प्रयोग किया जा सकता है.

Tags: Diabetes, Health, Lifestyle, Parenting



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *