December 10, 2022
आंखों की रोशनी बढ़ाना चाहते हैं तो सिर्फ इस तकनीक को अपनाकर देखें, होगा जबरदस्त लाभ


Yoga for Eyes: आंख हमारे शरीर का सबसे उपयोगी अंग होने के साथ साथ सबसे आकर्षक अंग भी है. बिना आंख के हम जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकते, इसलिए इनकी सुरक्षा करना बहुत जरूरी है. बदलती जीवनशैली और खानपान का हमारी आंखों में बड़ा प्रभाव पड़ा है. कमजोर रोशनी की समस्या पहले बुजुर्ग लोगों में दिखाई देती थी लेकिन अब आपको अपने आस पास छोटे छोटे बच्चे भी चश्मा लगाए हुए दिख जाएंगे.

मोबाइल और कंप्यूटर से पहुंचा रहा नुकसान
स्मार्टफोन, कंप्यूटर, टीवी जैसे उपकरणों का एक सीमा से अधिक इस्तेमाल करना भी हमारी आंखों की कम रोशनी का कारण है. कोरोना महामारी के बाद से इन उपकरणों का और भी अधिक इस्तेमाल होने लगा है जिसकी वजह से लोगों को आंखों के कमजोर होने का भी डर बना रहता है. ये सभी उपकरण ब्लू किरणें उत्सर्जित करते हैं जो हमारी आंखों के लिए घातक होती हैं.

जिंदगी की भागम-भाग माहौल में हम अब अपनी आंखों की सेहत का ज्यादा ध्यान नहीं रख पाए और न ही इस बात को लेकर ज्यादा परवाह करते हैं कि हम जो खाते पीते हैं और जिस तरह से जीवन जीते हैं उसका आंख पर क्या असर पड़ता है. खराब जीनवशैली और खानपान की वजह से हमारी आंखे लगातार कमजोर होती चली जा रही हैं जिसकी वजह से चश्मा पहनने की नौबत आ जाती है.

Types of Asthma: कौन सा अस्थमा है ज्यादा खतरनाक, जानें इसके सभी प्रकार

फिटनेस ट्रेनर जूही कपूर ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में कुछ ऐसे तरीके बताएं जिनके माध्यम से हम आंखों की रोशनी को बढ़ा सकते हैं और साथ ही स्वस्थ आंखों को कमजोर होने से रोक सकते हैं. जूही कपूर अपने पोस्ट में कहती हैं कि अगर अपने आहार में प्रतिदिन दो आंवलों का सेवन किया जाए तो आंखों की रोशनी को बढ़ाता है और साथ डिजिटल स्क्रीन के आंखों पर होने वाले दुष्प्रभाव को भी कम करता है.

जूही ने एक योग तकनीक भी बताई जो आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद करती है. यह योग तकनीक आंखों की मांसपेशियों को मजबूत बनाती है जिससे कमजोर हुई रोशनी बढ़ने लगती है. यदि रोजाना इस योग आसन को किया जाए तो कुछ ही महीने में इसका असर दिखने लगता है.

ट्रेनर जूही कपूर ने जिस तकनीक का जिक्र किया वह त्राटक क्रिया है. त्राटक क्रिया आंखों को कई तरह के रोगों से बचाती है. इस क्रिया को करने वाले लोोगं को अपनी आंख की पुतली को अलग अलग दिशा में घुमाना पड़ता है. उन्होंने कहा कि इस क्रिया जितनी बार संभव हो किया जा सकता है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार फिजियोथेरेपिस्ड डॉ प्रशांत मिस्त्री ने इससे सहमति व्यक्ति की और बताया कि त्राटक क्रिया आंखों की रोशनी बढ़ाने के साथ साथ हमारी याददाश्त में भी सुधार करता है. उन्होंने कहा कि इससे हमारी आंख की मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं.

त्राटक क्रिया करने से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभ

  • यह माइग्रेन जैसे सिरदर्द से भी राहत दिलाती है.
  • यह नींद न आने की समस्या को दूर करने में भी मदद करती है.
  • त्राटक क्रिया फोकस करने की ताकत को बढ़ाती हैं.
  • यह क्रिया आंख की रोशनी तो तेज करती है.
  • यह क्रोध को कम करने में भी कारगर है.

Tags: Eyes, Health, Lifestyle





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *