December 10, 2022
अर्थराइटिस में रेड मीट बढ़ा सकता है परेशानी, इन 8 फूड आइटम्‍स से भी बना लें दूरी


हाइलाइट्स

अर्थरा‍इटिस में रेड मीट का सेवन नहीं करना चाहिए.
खट्टी चीजें खाने से बढ़ सकती है सूजन.
अर्थराइटिस में अधिक नमक का सेवन न करें.

In Arthritis Avoid These Food Items – अर्थराइटिस जोड़ों से संबंधित समस्‍या है जिसमें सूजन, दर्द और चलने में परेशानी जैसी समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है. ऑस्टियोअर्थराइटिस एक आम समस्‍या है जो उम्र के साथ बढ़ती है. ऑस्टियोअर्थरा‍इटिस की समस्‍या से 40 प्रतिशत पुरुष और 47 प्रतिशत महिलाएं प्रभावित हो सकती हैं. अर्थराइटिस को ट्रिगर करने में डाइट अहम भूमिका निभाती है. प्रॉपर हेल्‍दी डाइट से इसके लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है वहीं कुछ ऐसे फूड आइटम्‍स भी हैं जो जोड़ों के दर्द और सूजन का कारण भी बन सकते हैं. अर्थराइटिस के मरीजों को ऐसे फूड आइटम्‍स को डाइट से निकाल देना चाहिए. चलिए जानते हैं इन फूड आइटम्‍स के बारे में जिन्‍हें डाइट में शामिल नहीं किया जाना चाहिए.

शुगर
हेल्‍थलाइन के अनुसार अर्थराइटिस के मरीजों को शुगर यानी चीनी का सेवन कम करना चाहिए. अर्थराइटिस होने पर आइसक्रीन, चॉकलेट, कैंडी और मिठाई से दूरी बना लें. इसके अलावा सोडा या डाइट ड्रिंक भी अर्थराइटिस के जोखिम को बढ़ा सकते हैं.

प्रोसेस्‍ड और रेड मीट
प्रोसेस्‍ड और रेड मीट का अधिक सेवन करने से जोड़ों में सूजन और दर्द बढ़ सकता है. अर्थराइटिस में प्‍लांट बेस्‍ड फूड का सेवन फायदेमंद हो सकता है.

यह भी पढ़ें: पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के लक्षणों से राहत पाने के लिए महिलाएं करें ये 4 योगासन

ग्‍लूटन फूड
अर्थराइटिस में ग्‍लूटन फूड जैसे गेहूं, ज्‍वार, मोटा अनाज और मैदा सूजन को बढ़ा सकते हैं. हालांकि ग्‍लूटन का सेवन पूरी तरह से बंद नहीं किया जा सकता लेकिन इसकी क्‍वांटिटी को जरूर कम किया जा सकता है.

अल्‍कोहल
अल्‍कोहल के अधिक सेवन से जोड़ों और मांसपेशियों में सूजन आ सकती है इसलिए अर्थराइटिस के मरीजों को अल्‍कोहल का सेवन तुरंत बंद कर देना चाहिए.

वेजिटेबल ऑयल
अर्थराइटिस की समस्‍या होने पर हाई ओमेगा-6 और लो ओमेगा-3 फैट्स का सेवन नहीं करना चाहिए. इससे मांसपेशियों में होने वाली सूजन को बढ़ावा मिलता है.  

हाई सोडियम
सोडियम यानी नमक का अधिक सेवन शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है. इसके अधिक सेवन से हाई बीपी, डायबिटीज और अर्थराइटिस की समस्‍या हो सकती है. ये जोड़ों में सूजन का कारण भी बन सकता है.

यह भी पढ़ें: Menopause: डायबिटीज पीड़ित महिलाओं में समय से पहले मेनोपॉज होने का खतरा, ऐसे करें ब्लड शुगर कंट्रोल

फैटी फूड
खाने में अधिक तेल की मात्रा जोड़ो के दर्द को बढ़ा सकती है. अधिक फैटी चीजों का सेवन करने से शरीर में फैट जमा हो सकता है जो मोटापे का कारण बन सकता है. शरीर का अधिक वजन बढ़ना अर्थराइटिस को बढ़ा सकता है.

सिट्रस फूड
सिट्रस फूड यानी की खट्टी चीजों का सेवन करना जोड़ों में दर्द और सूजन को बढ़ावा दे सकता है. अर्थराइटिस के मरीजों को नींबू, संतरा, दही और छाछ के सेवन से बचना चाहिए.
अर्थराइटिस एक आम समस्‍या है लेकिन छोटी-छोटी चीजों में बदलाव करके इसे बढ़ने से रोका जा सकता है. किसी भी चीज का सेवन करने और छोड़ने से पहले चिकित्‍सक की सलाह लें.

Tags: Health, Joint pain, Lifestyle



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *